सो पॉजिटिव मेरा पैशन प्रोजेक्ट है और लोगों की प्रतिक्रिया से मैं अभिभूत हूं: अनन्या पांडे

अनन्या पांडे ने कहा, सोशल मीडिया एक ऐसी जगह है जहाँ मुझे बहुत प्यार मिलता है और शायद आप में से ज्यादातर लोग मुझे सोशल मीडिया के कारण जानते हैं।

SHARE

अनन्या पांडे अपने नये मोहीम को देश के कोणे कोणे में पहुंचने में कोई कसर नही छोड़ रही है l हालही में अनन्या पांडे को लखनऊ के "इसाबेला थोबर्न कॉलेज" में अपनी पहल "सो पोस्टिव" के लिए उत्साहपूर्वक प्रचार करते देखा गया, जहाँ उन्होंने लगभग 4000 छात्रों से मुलाकात की है। अनन्या पांडे इन दिनों लखनऊ शहर में अपनी अगली फिल्म "पति पत्नी और वो" की शूटिंग में व्यस्त हैं, ऐसे में अभिनेत्री ने अपने व्यस्त शेड्यूल से समय निकाल कर लखनऊ में कॉलेज की सभी लड़कियों से खास मुलाकात की है।

अनन्या पांडे ने कहा, सोशल मीडिया एक ऐसी जगह है जहाँ मुझे बहुत प्यार मिलता है और शायद आप में से ज्यादातर लोग मुझे सोशल मीडिया के कारण जानते हैं। इसलिए सोशल मीडिया की वजह से ही मैं आज यहां खड़ी हूं। मुझे नहीं लगता कि मुझमें यहां आने और बोलने का आत्मविश्वास होता। सोशल मीडिया ने मुझे बेहद प्यार दिया है और यह एक सकारात्मक जगह है। मुझे इंस्टाग्राम का इस्तेमाल करना पसंद है, मुझे इंस्टाग्राम पर पोस्ट करना पसंद है, चाहे मैं सिर्फ पिज्जा खा रही हूँ या अपने दोस्तों के साथ चिल कर रही हूं, मैं उसे इंस्टाग्राम पर पोस्ट करती ही हूँ क्योंकि मैं लोगों को अपनी रियल दुनियां दिखाना चाहती हूं और मैं चाहती हूं कि वे मेरे अनफिल्टर्ड वर्शन को देखें।

अनन्या पांडे ने आगे कहा, चूंकि सोशल मीडिया एक बहुत अच्छी जगह है, मैं नहीं चाहती कि आप में से कोई भी यह महसूस करे कि हमें सोशल मीडिया पर नहीं होना चाहिए क्योंकि हमें बुली किया जाएगा। यह बेहद अन्यायपूर्ण बात है कि आप इंस्टाग्राम पर नहीं हो सकते, सिर्फ इसलिए क्योंकि एक व्यक्ति आपसे नफरत कर रहा है। मुझे सोशल मीडिया पर बहुत से अच्छे लोगों से जीवन में विश्वास मिला है। मैं बस इन्ही जैसे अन्य अच्छे लोगों को सामने लाना चाहती हूं। 

मुझे लगता है कि यह इस दुनिया में बहुत डरावना है। ऐसे बहुत से लोग हैं जिनका दिल आपके जैसा नहीं है (कॉलेज के छात्र)। सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपको पता होनी चाहिए, वह है आपकी प्राइवेसी बनाए रखना और उसे सुरक्षित रखना। इसलिए मुझे लगता है कि सोशल मीडिया पर आपको ज्यादा से ज़्यादा प्राइवेसी रखने की कोशिश करनी चाहिए। पहले मेरा प्राइवेट एकाउंट था लेकिन अब चूंकि मैं यह काम कर रही हूं और मैं आप सभी से जुड़ना चाहती हूं, इसीलिए मैंने इसे पब्लिक कर दिया है। ऐसे में बस यह सुनिश्चित करें कि आप अपनी लोकेशन्स के बारे में बेहद प्राइवेट रहे। आप लोगों को नए एकाउंट बनाने से रोक नहीं सकते है। ज्यादातर समय आप बस उन्हें अनदेखा कर सकते हैं और मुझे लगता है कि ऐसे लोगों को ब्लॉक कर देना ही उनके खिलाफ़ एक्शन लेना है। लेकिन ब्लॉक करने से बेहतर है कि आप उन्हें अनदेखा करें, वे भी तंग आ जाएंगे और आपको परेशान करना बंद कर देंगे। 

 ऑडिटोरियम में एंट्री के साथ तालियों की गड़गड़ाहट के बीच बेस्ट स्टूडेंट" अनन्या पांडे का स्वागत किया गया क्योंकि वह 'डिजिटल सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी' के तहत अपनी पहल 'सो पॉजिटिव' को बढ़ावा देने वाली सबसे कम उम्र की इंफ्लुएंसर है। कॉलेज में अभिनेत्री ने शिक्षकों और 4000 की बड़ी संख्या में उपस्थित छात्राओं से मुलाकात की और उनके साथ अपनी पहल, अपने इरादे और अपने जुनून पर खुलकर बातचीत करते हुए नज़र आई।

मुलाकात और अभिवादन के बाद, अनन्या प्रार्थना के लिए चैपल गई और वहाँ अपनी अनूठी पहल 'सो पॉजिटिव' के बारे में जानकारी दि। यह पहल इतनी तेजी से वायरल हो रही है कि एक छात्र 'सो पॉजिटिव' की टी-शर्ट पहनकर दौड़ कर अभिनेत्री के पास पहुँची और उसने अनन्या पांडे की सबसे बड़ी प्रशंसक होने का दावा किया। यह इस बात का प्रमाण कि अनन्या की पहल किस तरह लोगों को प्रभावित कर रही है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें