Advertisement

'मुल्क' की सालगिरह पर अनुभव सिन्हा ने ऋषि कपूर को लेकर कही खास बात

दिलचस्प बात यह है कि, मुल्क को 27 दिनों में फ़िल्माया गया था, जो कि दिवंगत अभिनेता के लिए आश्चर्य का विषय था।

'मुल्क' की सालगिरह पर अनुभव सिन्हा ने ऋषि कपूर को लेकर कही खास बात
SHARES

दिवंगत दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर, तापसी पन्नू और रजत कपूर स्टारर अनुभव सिन्हा की 'मुल्क' ने 3 अगस्त, 2020 में अपनी रिलीज़ के दो साल पूरे कर लिए हैं। भले ही, यह एक स्लीपर हिट थी, इस फिल्म को आज भी सबसे ज्यादा चर्चित और महत्वपूर्ण कहानियों में से एक के रूप में याद किया जाता है, जिसे आज के दौर में पेश करने की सबसे ज़्यादा जरूरत है। कहने की जरूरत नहीं है, फिल्म ने लोगों के बीच प्रासंगिक बातचीत की शुरूवात कर दी थी।

समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्म निर्माता ने ऋषि कपूर के साथ काम करने के अपने अनुभव को याद करते हुए साझा किया, वह (ऋषि कपूर) नरेशन के 15 मिनट बाद ही फिल्म करने के लिए सहमत हो गए थे। चिंटूजी हमेशा शॉट से पहले उन्हें दृश्य समझाने के लिए कहते थे और मेरे बोलने के दौरान मुझे ध्यान से देखा करते थे। इससे वह समझ जाते थे कि मैं क्या चाहता हूँ।"

दिलचस्प बात यह है कि, मुल्क को 27 दिनों में फ़िल्माया गया था, जो कि दिवंगत अभिनेता के लिए आश्चर्य का विषय था। "चिंटूजी को यकीन नहीं हुआ कि फिल्म खत्म हो गई है और मैंने जोर देकर कहा कि मैं बैक-अप के रूप में 10 दिन रखता हूं। फिर, एक दिन, मेरे सीएफओ मुझसे पूछ रहे थे कि क्या मेरे पास कुछ शूटिंग बाकी है, यह कहते हुए कि चिंटूजी ने 5 और 15 जनवरी, 2018 के बीच तारीख बुक रखी थी। स्क्रीनिंग के दौरान, चिंटू टेंशन में थे, हर एक अपडेट के लिए हर 30 सेकंड में कॉल कर रहे थे, क्योंकि मुल्क को बैन करने का डर था। फिर 90 मिनट की चर्चा के बाद, जब मैंने U/A प्रमाणपत्र के साथ बाहर कदम रखा और उन्हें बताया, तो उन्होंने अविश्वास में दोहराया कि 'मतलब पिक्चर रिलीज़ होगी!'"

“चिंटूजी के यूएसए से लौटने पर, हम बच्चन की दिवाली पार्टी में मिले थे। मैं दौड़ कर उन्हें गले मिला और अंदाज़ा भी नहीं था वे इतनी जल्दी चले जाएंगे। मैंने उनके साथ कई ओर फिल्मों की योजना बनाई थी।,“अनुभव सिन्हा कहते हैं।

इस साल अपनी समीक्षकों द्वारा प्रशंसित फिल्म 'थप्पड़' की सफलता के बाद, अनुभव सिन्हा ने हाल ही में अपनी अगली परियोजना की घोषणा कीलर दी है - कोरोनोवायरस महामारी से कहानियों और अनुभवों पर आधारित एक एंथोलॉजी फिल्म जिसका निर्माण बनारस मीडियावर्क्स के तहत किया जाएगा।

दिलचस्प बात यह है कि कोविड-19 महामारी के बीच हमारी हालिया स्थिति के विषय पर केंद्रित एक एंथोलॉजी फिल्म विकसित करने के लिए प्रतिभाशाली कथाकार ने हंसल मेहता, सुधीर मिश्रा, केतन मेहता और सुभाष कपूर जैसे अपने चार फिल्म निर्माता दोस्तों के साथ हाथ मिलाया है।

संबंधित विषय
Advertisement