'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' कॉन्ट्रोवर्सी - अनुपम खेर समते 14 लोगों पर दर्ज हुआ केस

शिकायतकर्ता सुधीर ओझा का आरोप है कि इस 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत सोनिया गांधी, राहुल गांधी, सुषमा स्वराज, अटल बिहारी वाजपेयी, लालू प्रसाद यादव और मायावती को अपमानित किया गया है।

SHARE

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की बायोपिक 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। हाल ही में इस फिल्म को लेकर मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में मामला दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता सुधीर ओझा ने आरोप लगाया गया है कि इस फिल्म के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और दूसरे बड़े नेताओं की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है।

'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर'  में एक्टर अनुपम खेर लीड रोल में हैं और वे मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे हैं। फिल्म में मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी और उनके परिवार को बारीकी से दिखाया है। जिसके चलते शिकायतकर्ता ने फिल्म की कास्ट अनुपम खेर, अक्षय खन्ना के अलावा फिल्ममेकर और डायरेक्टर समेत 14 लोगों पर केस दर्ज कराया है। इस मामले की अगली सुनवाई 8 जनवरी को होगी। वहीं यह फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होने जा रही है।

शिकायतकर्ता सुधीर ओझा का आरोप है कि इस 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत सोनिया गांधी, राहुल गांधी, सुषमा स्वराज, अटल बिहारी वाजपेयी, लालू प्रसाद यादव और मायावती को अपमानित किया गया है।

'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही फिल्म विवादों में छाई हुई है। इस फिल्म के कंटेंट पर महाराष्ट्र यूथ कांग्रेस भी सवाल खड़े कर चुकी है। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी की अलीगढ़ यूनिट ने मांग की थी कि बढ़ते विवाद को देखते हुए अनुपम खेर और 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' की टीम को सुरक्षा मुहैया कराई जाए।

अनुपम खेर ट्रेलर लॉन्च को मौके पर ही मीडिया के सामने फिल्म को लेकर सफाई दे चुके हैं। उनका कहना था कि फिल्म संजय बारू की किताब 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' पर बेस्ड है। इस फिल्म को पहले ही सेंसर बोर्ड पास कर चुका है, अब किसी और को फिल्म दिखाने का तुक नहीं बनता।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें