The Accidental Prime Minister फिल्म के रिलीज का रास्ता हुआ साफ़, दिल्ली हाई कोर्ट ने याचिका की खारिज

याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि इस मामले में प्रभवित लोग ही याचिका दाखिल करने का अधिकार रखते हैं। इसलिए यह जनहित से जुड़ा मामला नहीं है, इसीलिए इस याचिका को को खारिज किया जाता है।

SHARE

ट्रेलर रिलीज के बाद विवादों में आ चुकी फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' का रिलीज का रास्ता साफ़ हो गया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग करने वाली जनहित याचिका खारिज कर दी। याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि इस मामले में प्रभवित लोग ही याचिका दाखिल करने का अधिकार रखते हैं। इसलिए यह जनहित से जुड़ा मामला नहीं है, इसीलिए इस याचिका को को खारिज किया जाता है।

क्या था मामला?
आपको बता दें कि फिल्म का ट्रेलर रिलीज होते ही हंगामा मच गया। आरोप लगा कि बीजेपी वाले जन बुझ कर इस फिल्म को रिलीज करवा रहे हैं ताकि चुनाव से पहले कांग्रेस के खिलाफ माहौल बनाया जा सके। कांग्रेस के नेताओं ने यह भी आरोप लगाया कि इस फिल्म को कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ एक साजिश  है। इसीलिए फिल्म के खिलाफ दिल्ली की एक महिला पूजा महाजन ने याचिका दाखिल कर फिल्म के रिलीज पर रोक लगाने की मांग की। याचिका में कहा गया था कि इस फिल्म से पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की सार्वजनिक प्रतिष्ठा को क्षति पहुंचेगी। फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से अब तक इस ट्रेलर को 5 करोड़ से अधिक लोग देख चुके हैं। 

आपको बता दें कि इस फिल्म में बताया गया है कि साल 2004 में जब कांग्रेस सत्ता में आई थी तो उस समय इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री बनाना चाहती थी लेकिन अन्य पार्टियों के विरोध के बाद सोनिया ने मज़बूरी में मनमोहन सिंह को पीएम बनावा दिया।

गौरतलब है कि यह फिल्म संजय बारू की किताब द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर (The Accidental Prime Minister)' पर आधारित है। बारू मनमोहन सिंह के मीडिया एडवाइजर रह चुके हैं। फिल्म में संजय बारू का रोल अक्षय खन्ना कर रहे हैं जबकि मनमोहन सिंह का किरदार अनुपम खेर निभा रहे हैं। इसके अलावा फिल्म में  राहलु गांधी, प्रियंका गांधी और सोनिया गांधी के किरदार भी नजर आएंगे। फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें