Advertisement

मुंबई में मुझे शिवसेना के नेताओं से जान का खतरा है- कंगना रनौत

कंगना पर तीन मामले चल रहे हैं। उन पर विवादित ट्वीट के लिए मुकदमा चलाया जा रहा है। जिसकी सुनवाई मुंबई में होती है, लेकिन अब उन्होंने दावा किया है कि शिवसेना के नेताओं से उनकी जान को खतरा है।

मुंबई में मुझे शिवसेना के नेताओं से जान का खतरा है- कंगना रनौत
SHARES

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (bollywood actress kangana ranajit) और उनकी बहन रंगोली चंदेल (rangoli chandel) ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका के द्वारा कंगना ने मांग की है कि महाराष्ट्र (maharashtra) में दायर तीन मामलों को हिमाचल प्रदेश (himachal pradesh) की अदालत में शिफ्ट किया जाए, क्योंकि मुंबई में उन्हें शिवसेना (shiv sena) से जान का खतरा है।

बता दें कि कंगना पर तीन मामले चल रहे हैं। उन पर विवादित ट्वीट के लिए मुकदमा चलाया जा रहा है। जिसकी सुनवाई मुंबई (mumbai) में होती है, लेकिन अब उन्होंने दावा किया है कि शिवसेना के नेताओं से उनकी जान को खतरा है। 

अली काशिफ खान और मुनव्वर अली सैयद ने कंगना पर दो मामले दर्ज किए हैं।  दोनों ने यह आरोप लगाया गया है कि कंगना के ट्वीट और बयान हिंदू और मुसलमानों के बीच तनाव पैदा करते है। जबकि तीसरी मामला गीतकार जावेद अख्तर (javed akhtar)  ने कंगना के खिलाफ दायर किया है।

जावेद अख्तर ने जुहू पुलिस स्टेशन (juhu police station) में कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने कंगना पर मानहानि का आरोप लगाया है। जावेद अख्तर ने कंगना के खिलाफ अंधेरी कोर्ट में मानहानि का मुकदमा दायर किया है। एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में जावेद ने कंगना पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है।

कंगना और रंगोली ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। जिसमें उन्होंने कहा है कि, अगर मुंबई में इन सभी मामले की सुनवाई जारी रहती है, तो शिवसेना नेताओं से हमारी जान को खतरा है। इसलिए, इन तीन मामलों की सुनवाई हिमाचल प्रदेश की अदालत में होनी चाहिए। हालांकि इस याचिका अभी तक स्वीकार नहीं किया गया है।

गौरतलब है कि, अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या (sushant singh rajput suicide case) के बाद कंगना और उनकी बहन रंगोली ने काफी ट्वीट किए थे। साहिल नाम के एक शख्स ने कंगना और उनकी बहन के खिलाफ बांद्रा कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसमें से एक ट्वीट पर आपत्ति जताई गई थी। याचिका पर सुनवाई करते हुए, अदालत ने पुलिस को कंगना के खिलाफ राजद्रोह की धाराओं के तहत मामला दर्ज करने, सामाजिक दरार पैदा करने और धार्मिक भावनाओं को भड़काने जैसे धाराओं के तहत केस दर्ज करने का आदेश दिया था।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें