Advertisement

'शिकारा' के मेकर्स की बढ़ी मुश्किलें, फिल्म के खिलाफ दायर हुई याचिका

याचिकाकर्ता इफ्तिखार मिसगर, माजिद हैदरी और इरफान हाफिज लोन ने आरोप लगाया है कि इस फिल्म में कश्मीर और कश्मीरी पंडितों के बारे में गलत तथ्य दर्शाए गए हैं।

'शिकारा' के मेकर्स की बढ़ी मुश्किलें, फिल्म के खिलाफ दायर हुई याचिका
SHARES
Advertisement

विधु विनोद चोपड़ा इन दिनों अपनी आगामी फिल्म 'शिकारा' को लेकर सुर्खियों में हैं। यह फिल्म कश्मीरी पंडितों के पलायन पर बेस्ड है। फिल्म का ट्रेलर दर्शकों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। पर रिलीज के पहले मेकर्स के लिए एक मुसीबत खड़ी हो गई है। फिल्म के  खिलाफ जम्मू एवं कश्मीर हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। इसमें फिल्म की रिलीज को रोकने और कुछ दृश्यों को हटवाने की मांग की गई है। अभी तक फिल्म  7 फरवरी को रिलीज होने के लिए तैयार है।

याचिकाकर्ता इफ्तिखार मिसगर, माजिद हैदरी और इरफान हाफिज लोन ने आरोप लगाया है कि इस फिल्म में कश्मीर और कश्मीरी पंडितों के बारे में गलत तथ्य दर्शाए गए हैं।

मिसगर ने आईएएनएस से कहा है, हम इसकी रिलीज रोकने और उन दृश्यों को हटवाने के लिए कह रहे हैं, जिनके जरिए घाटी के मुस्लिमों की छवि खराब करने की कोशिश की गई है। 

शिकारा इस साल की बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है। यह फिल्म स्वयं विधु विनोद चोपड़ा के अपने जीवन से प्रेरित है और निर्देशक ने इस फ़िल्म के जरिये अपनी मां को ट्रिब्यूट दिया है। 'शिकारा' में 1990 की घाटी से कश्मीरी पंडितों की अनकही कहानी को उजागर किया गया है जिसे जगती और अन्य शिविरों के 40,000 असली प्रवासियों के साथ शूट किया गया है। यहीं नहीं, फिल्म में माइग्रेशन की वास्तविक फुटेज भी शामिल की गई है।

विधु विनोद चोपड़ा की फ़िल्म "शिकारा" 7 फरवरी, 2020 में रिलीज के लिए तैयार है। फॉक्स स्टार स्टूडियोज द्वारा प्रस्तुत, यह फ़िल्म विनोद चोपड़ा प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित और फॉक्स स्टार स्टूडियो द्वारा सह-निर्मित है।

संबंधित विषय
Advertisement