एक्टर नहीं किरदार 'कल्ट' होता है- आशुतोष राणा


SHARE

चंबल एक ऐसी जगह है जो एक समय पर डाकुओं के अड्डे के लिए जाना जाता था। इन बीहड़ों से बॉलीवुड का गहरा नाता रहा है, यहां बेंडिट क्वीन और पान सिंह तोमर जैसी फिल्में बनी और हिट साबित हुई। अब इसी ओर चल पड़े हैं डायरेक्टर अभिषेक चौबे।

सुशांत सिंह राजपूत, मनोज बाजपेई, भूमि पेडनेकर और आशुतोष राणा स्टारर फिल्म 'सोनचिड़िया' 1 मार्च को रिलीज के लिए तैयार है। रिलीज से पहले मुंबई में फिल्म का एक खास कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर फिल्म की पूरी कास्ट मौजूद थीं।

इस मौके पर सुशांत सिंह ने कहा, फिल्म में बुंदेलखंडी बोली का इस्तेमाल किया गया है, जोकि मेरे लिए नया अनुभव था। पर मैं सच बोलूं तो मुझे इसे करने में कोई तकलीफ नहीं हुई। मैंने पहली बार इतने बड़े बड़े एक्टर के साथ काम किया यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है।

आशुतोष राणा ने कहा, मैं बेहद खुश हूं साथ ही अभिषेक का शुक्रगुजार हूं मुझे इस फिल्म का हिस्सा बनाया। खुशी की बात है कि मैं ऐसी फिल्म कर रहा हूं जिसमें बुंदेलखंडी बोलने का मौका मिला। मैं यही भाषा बोलकर बड़ा हुआ हूं।

अपने किरदार के बारे में बात करते हुए आशुतोष ने कहा, कोई भी एक्टर कल्ट नहीं होता बल्कि उसके द्वारा निभाया गया किरदार कल्ट होता है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें