Advertisement

सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' का टाइटल ट्रैक हुआ रिलीज

फिल्म 'दिल बेचारा' (Dil Bechara) का टाइटल ट्रैक आखिरकार रिलीज हो चुका है। जी हां, दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) और संजना संघी (Sanjana Sanghi) पर फिल्माया गया यह गाना अपने आप में बहुत खास है।

सुशांत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' का टाइटल ट्रैक हुआ रिलीज
SHARES

फिल्म 'दिल बेचारा' (Dil Bechara) का टाइटल ट्रैक आखिरकार रिलीज हो चुका है। जी हां, दिवंगत बॉलीवुड सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) और संजना संघी (Sanjana Sanghi) पर फिल्माया गया यह गाना अपने आप में बहुत खास है।  सबसे खास बात है, इसमे सुशांत डांस परफॉरमेंस जिसे आंखों से ओझल करना बहुत मुश्किल है। हर फ्रेम में सिर्फ और सिर्फ सुशांत,सुशांत की मासूमियत, उनका चार्म, दिलफेंक अंदाज़, एक शॉट में माइकल जैक्सन की स्टेप , पूरे गाने के मानो सुशांत ने ज़िंदा कर दिया । इस गाने को संगीत और अपनी आवाज़ ए आर रहमान ने दी है।

खास बात है कि इस गाने की शूटिंग एक शॉट में की गयी और सुशांत की जिंदगी का ये गाना आखिरी है, जिसमें वो थिरकते और अपना प्यार लुटाते नजर आए हैं। गाने की रिलीज पर डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा कहते हैं कि 'दिल बेचारा' टाइटल ट्रैक मेरा पसंदीदा ट्रैक है। यह वह आखिरी गाना है, जिसे सुशांत ने शूट किया। मुकेश छाबड़ा ने बताया कि यह गाना फराह खान ने कोरियोग्राफ किया है। जिन्होंने इस गाने की रिहर्सल एक दिन की और दूसरे दिन सिर्फ एक शॉट में गाना कम्पलीट किया। बेहतरीन डांसर होने के नाते गाने में सुशांत की पेरफॉरमेंस बेहद सरल और सहज लग रही हैं। फराह खान ने इस गाने के लिए कोई शुल्क नही लिया है।

पहली बार सुशांत के साथ अपने अनुभव के बारे में फराह खान कहती है, यह गीत मेरे लिए इसलिए खास है,क्योंकि ये पहली बार था, जब मैंने सुशांत को कोरियोग्राफ किया था। हम लंबे समय से दोस्त तो थे, लेकिन कभी भी एक साथ काम नहीं किया। मैंने मुकेश छाबड़ा से यह वादा भी किया था कि वह जब अपने निर्देशन की शुरुआत करेंगे तो मैं उनकी फिल्म में एक गीत जरूर करूंगी। मैं चाहती थी कि गाना, एक ही शॉट में पूरा हो जाये क्योंकि मैं सुशांत के डांसिंग गुणों से अवगत थी। वो एक बार हमारे रियालिटी शो में सेलेब्रेटी जज बनकर आए ,जहां उन्होंने प्रतियोगियों से भी ज्यादा अच्छा डांस किया। हमने एक दिन पूरी गाने की रिहर्सल की और फिर आधे दिन में पूरा गाना एक शॉट में कम्पलीट किया। गाने को इतने बेहतरीन ढंग से जल्द ही पूरा करने के बदले सुशांत मुझसे मेरे घर से  खानों की फरमाइश करते थे जो मैं उनके लिए हमेशा लेकर आती थी। 

संबंधित विषय
Advertisement