Advertisement

सुशांत की जिंदगी का आखिरी गाना एक शॉट में हुआ पूरा

यह वह आखिरी गाना है, जिसे सुशांत ने शूट किया। मुकेश ने बताया कि यह गाना फराह खान ने कोरियोग्राफ किया है, जिन्होंने इस गाने की रिहर्सल एक दिन की और दूसरे दिन सिर्फ एक शॉट में गाना कम्पलीट किया।

सुशांत की जिंदगी का आखिरी गाना एक शॉट में हुआ पूरा
SHARES

फिल्म 'दिल बेचारा' का टाइटल ट्रैक रिलीज के लिए तैयार हैं। जी हां, दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) और संजना संघी पर फिल्माया गया यह गाना अपने आप में बहुत खास है, क्योंकि इस गाने की शूटिंग एक शॉट में की गयी और सुशांत की जिंदगी का यह गाना आखिरी है, जिसमें वे थिरकते और अपना प्यार लुटाते नजर आएंगे। गाने की रिलीज पर डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा कहते हैं कि 'दिल बेचारा' टाइटल ट्रैक मेरा पसंदीदा ट्रैक है।

यह वह आखिरी गाना है, जिसे सुशांत ने शूट किया। मुकेश ने बताया कि यह गाना फराह खान ने कोरियोग्राफ किया है, जिन्होंने इस गाने की रिहर्सल एक दिन की और दूसरे दिन सिर्फ एक शॉट में गाना कम्पलीट किया। बेहतरीन डांसर होने के नाते गाने में सुशांत की पेरफॉरमेंस बेहद सरल और सहज लग रही हैं। फराह ने इस गाने के लिए कोई शुल्क नही लिया हैं।

पहली बार सुशांत के साथ अपने अनुभव के बारे में फराह खान कहती है, यह गीत मेरे लिए इसीलिए खास है,क्योंकि ये पहली बार था जब मैंने सुशांत को कोरियोग्राफ किया था। हम लंबे समय से दोस्त तो थे, लेकिन कभी भी एक साथ काम नहीं किया। मैंने मुकेश छाबड़ा से यह वादा भी किया था कि वह जब अपने निर्देशन की शुरुआत करेंगे तो मैं उनकी फिल्म में एक गीत जरूर करूंगी। मैं चाहती थी कि गाना, एक ही शॉट में पूरा हो जाए क्योंकि मैं सुशांत के डांसिंग गुणों से अवगत थी। वे एक बार हमारे रियालिटी शो में सेलेब्रेटी जज बनकर आये थे,जहां उन्होंने प्रतियोगियों से भी ज्यादा अच्छा डांस किया। हमने एक दिन पूरी गाने की रिहर्सल की और फिर आधे दिन में पूरा गाना एक शॉट में कम्पलीट किया। गाने को इतने बेहतरीन ढंग से जल्द ही पूरा करने के बदले सुशांत मुझसे मेरे घर से स्वादिष्ट खानों की फरमाइश करते थे, जो मैं उनके लिए हमेशा लेकर आती थी। 

फराह ने आगे कहा, मैं गाने को देखती हूं तो महसूस होता है कि सुशांतच कितने खुश लग रहे थे, इसलिए यह गाना मेरे लिए बहुत खास हैं।

इतना ही नहीं मुकेश से अपने बॉन्डिंग पर फराह कहती हैं कि मुकेश और मेरा रिश्ता बहुत खास है। वो मुझे दीदी कहकर बुलाते हैं, मैं उसे अपना छोटा भाई मानती हूं। हम 5 साल पहले मिले थे तो जब उन्होंने मुझे अपनी फिल्म में गाना कोरियोग्राफ करने के लिए पूछा। बिना एक सेकंड सोचे मैंने हामी भरी, क्योंकि उनके इस सफर में मेरी हिस्सेदारी भी होनी जरूरी है।

बसुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में आत्महत्या कर ली थी। उनके चाहने वाले इस सच्चाई को आज तक स्वीकार्य नहीं कर पा रहे हैं। उनके परिवार के इस दुख में पूरा देश शामिल हुआ है। 

यह भी पढ़ें: नहीं रहे महान अभिनेता जगदीप

संबंधित विषय
Advertisement