SHARE

आखिरकार एनसीएलटी की ओर से मंजूरी मिलने के बाद टेलिकॉम जगत की दो दिग्गज कंपनियों आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन इंडिया ने आपस में विलय कर लिया। इस विलय के बाद वोडाफोन आइडिया लिमिटेड 408 मिलियन सब्सक्राइबर्स के साथ देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी बन गई है। यही नहीं अब कमाई के मामले में भी यह कंपनी पहले स्थान पर आ गयी है जबकि एयरटेल पिछले 15 साल से भारत की नंबर 1 टेलीकॉम कंपनी थी।

इन दोनों कंपनियों ने साझा बयान जारी करते हुए कहा कि नई कंपनी का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड है, कंपनी के नए बोर्ड का गठन भी किया जा चुका है। इस बोर्ड में 12 निदेशक होंगे जिनमे 6 स्वतंत्र निदेशकों होंगे। आईडिया के कुमार मंगलम बिड़ला इस कंपनी के चेयरमैन होंगे। तो वहीं बोर्ड की सर्वसम्मति से बालेश मिश्रा को बतौर मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।

 इस विलय के साथ ही टेलिकॉम मार्किट में 32.2 फीसदी हिस्सा इन दोनों का हो जायेगा। साथ ही इनके पास अब 17 लाख खुदरा दुकानों के साथ 3.4 लाख साइट का ब्रॉडबैंड नेटवर्क और वितरण नेटवर्क भी होगा। आपको बता दें कि जब से टेलिकॉम सेक्टर में जिओ ने एंट्री मारी है तब से अन्य टेलिकॉम कंपनियां घाटे में चल रहीं हैं साथ ही बाजार में उन्हें टिकना भी मुश्किल हो रहा था। बाजर में अस्तित्व बना रहे इसीलिए आईडिया और वोडाफोन ने यह विलय किया है। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें