बंधन बैंक: CEO की सैलरी फ्रिज, नहीं खोल पाएगा नई ब्रांच

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बंधन बैंक को नई ब्रांच खोलने से रोक लगा दी है साथ ही के बैंक सीईओ चंद्रशेखर घोष की सैलरी भी फ्रीज कर दी है। आपको बता दें कि प्रमोटर के शेयर होल्डिंग मानकों को पूरा नहीं करने की वजह आरबीआई ने घोष के खिलाफ यह कार्रवाई की है।

SHARE

बंधन बैंक की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। अब भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बंधन बैंक को नई ब्रांच खोलने से रोक लगा दी है साथ ही के बैंक सीईओ चंद्रशेखर घोष की सैलरी भी फ्रीज कर दी है। आपको बता दें कि प्रमोटर के शेयर होल्डिंग मानकों को पूरा नहीं करने की वजह आरबीआई ने घोष के खिलाफ यह कार्रवाई की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बंधन बैंक ने बताया कि बंधन बैंक को नई ब्रांच खोलने की अनुमति इसीलिए नहीं मिली क्योंकि लाइेंसस में शर्तों के अनुसार नॉन ऑपरेटिव फाइनेंशयल होल्डिंग कंपनी (NOFHC) में हिस्सेदारी घटाकर 40 प्रतिशत तक नहीं ला सका। यही नहीं बैंक ने आगे बताया कि बैंक एनओएफएचसी की शेयर होल्डिंग को 40 फीसदी पर लाने के लिए जरूरी कदम उठा रही है। हालांकि बंधन बैंक आरबीआई से अग्रिम मंजूरी लेने के बाद ब्रांच खोल सकता है।

गौरतलब है कि आरबीआई की लाइसेंसिंग शर्तों के अनुसार किसी भी प्राइवेट बैंक को अपने 3 साल के अंदर अपने प्रमोटर की शेयरहोल्डिंग 40 फीसदी करना अनिवार्य है। बंधन बैंक इससे पहले एक माइक्रो फाइनेंस संस्था थी इसी 23 अगस्त को इसने बैंकिंग में 3 साल भी पूरे किए। इस बैंक का मुख्यालय कोलकाता में है। 2014 में इसे बैंकिंग लाइसेंस मिला था। मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से यह आठवां सबसे बड़ा बैंक है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें