Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
43,43,727
Recovered:
36,09,796
Deaths:
65,284
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
56,153
3,882
Maharashtra
6,41,596
57,640

पीएनबी, कैनरा, युनायटेड, युनियन, आंध्रा, इलाहबाद सहित 10 बैंकों का हुआ विलीनीकरण


पीएनबी, कैनरा, युनायटेड, युनियन, आंध्रा, इलाहबाद सहित 10 बैंकों का हुआ विलीनीकरण
SHARES

केंद्र सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला लेते हुए कई बैंकों के विलय का ऐलान किया है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala sitharaman) ने घोषणा करते हुए कहा कि यूनाइटेड बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ,पंजाब नेशनल बैंक , केनरा बैंक, सिंडिकेट बैंक, यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक , कॉरपोरेशन बैंक , इंडिय़न बैंक , इलाहाबाद बैंको का आपस में विलय होगा। हालांकि इन सभी बैंकों के चार अलग रूपों में विलय होगा। इस विलय के बाद अब देश में सरकारी बैंकों की संख्या घटकर मात्र 12 रह जाएगी।  

शुक्रवार का दिन आर्थिक दृष्टी से ऐतिहासिक रहा, यह दिन हमेशा के लिए याद रखा जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों के विलय की बात करते हुए कहा , बड़े बैंकों से कर्ज देने की क्षमता बढ़ती है। PNB, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक के विलय से ये देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बनेगा। पीएनबी, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक के विलय से बनने वाले बैंक के पास 17.95 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होगा और उसकी 11,437 शाखाएं होंगी। उन्होंने  कहा कि कैनरा बैंक और सिंडीकेट बैंक का विलय होगा और इससे 15.20 लाख करोड़ रुपये के कारोबार के साथ यह चौथा सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक बनेगा।

वित्त मंत्री ने आगे कह कि यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक के विलय से यह देश का 5वां बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक बनेगा। इसका कुल कारोबार 14.59 लाख करोड़ रुपये का होगा, जबकि दूसरी तरफ, इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक के विलय से 8.08 लाख करोड़ रुपये के कारोबार के साथ यह सार्वजनिक क्षेत्र का 7वां बड़ा बैंक बन जाएगा।

वित्त मंत्री ने दावा किया कि बैंकों के वाणिज्यिक फैसलों में सरकार का कोई दखल नहीं है। नीरव मोदी जैसी धोखाधड़ी रोकने के लिये स्विफ्ट संदेशों को कोर बैंकिंग प्रणाली से जोड़ा गया है और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का कुल फंसा कर्ज (एनपीए) दिसंबर 2018 के अंत में 8.65 लाख करोड़ रुपये से घटकर 7.9 लाख करोड़ रुपये रह गया है।

इन बैंकों होगा विलय 

पहला विलय  
PNB+ ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स+यूनाइटेड बैंक


दूसरा विलय  
केनरा बैंक+सिंडिकेट बैंक


तीसरा विलय  
यूनियन बैंक+आंध्राबैंक+कॉरपोरेशन बैंक


चौथा विलय  
इंडियन बैंक+इलाहाबाद बैंक  

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें