नोटबंदी, शादी और सोना का रोना

 Pali Hill
नोटबंदी, शादी और सोना का रोना

मुंबई - पैसे निकालने और डेबिट कार्ड पर खरीदी की मर्यादा के चलते शादी विवाह के लिए लोग सोना नहीं खरीद रहे हैं, क्योंकि लोगों के पास सवाल है कि वे घर चलाएं या सोना खरीदें, जिसके चलते सोने की कीमत में कमी दर्ज की गई है, सोना के दाम 26 हजार रुपए प्रति तोला से भी नीचे आ गए हैं।

नोटबंदी के बाद से सोना की विक्री 10 से 20 फीसदी हुई है, यह जानकारी सराफा बाजार के हवाले से आई है। नोटाबंदी से बाजार में कैश नहीं है। जिसके चलते सोना की मांग 80 फीसदी घटी है। जिसकी वजह से दामों में गिरावट आई है। सोना के दाम स्थिर होने में चार से पांच महीने का समय लग सकता है।

मुंबई ज्वेलर्स एसोसिएशन के उपाध्क्ष कुमार जैन का कहना है कि डेबिट या क्रेडिट कार्ड के द्वारा सोना की खरीदी करने की सीमा ढाई लाख है जिससे केवल 50 से 60 ग्राम सोना खरीदा जा सकता है, पर शादियों में सोने की ज्यादा मांग होती है। इसका असर सोने की विक्री पर पड़ रहा है।

Loading Comments