Advertisement

1 नवंबर से सिलेंडर की होम डिलीवरी की प्रक्रिया बदल जाएगी

घरेलू सिलेंडर के काले बाजार पर अंकुश लगाने और सही ग्राहक की पहचान करने के लिए तेल कंपनियां नई प्रणाली लागू करेंगी।

1 नवंबर से सिलेंडर की होम डिलीवरी की प्रक्रिया बदल जाएगी
SHARES

एलपीजी (LPG) की घरेलू गैस की होम डिलीवरी (Home delievery) की पूरी प्रणाली को एक नवंबर से बदल दिया जाएगा।  घरेलू सिलेंडर के काले बाजार पर अंकुश लगाने और सही ग्राहक की पहचान करने के लिए तेल कंपनियां नई प्रणाली को लागू करने के लिए।

नियमों का करना होगा पालन

ग्राहकों को नए नियमों का पालन करना होगा।  नए नियमों के अनुसार, गैस वितरक के पास आपकी अप-टू-डेट जानकारी होनी चाहिए।  अन्यथा आपको सिलेंडर (Gas cylinder) घर नहीं मिलेगा।  इस नई प्रणाली को डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड (DAC) कहा जाता है।  सिलेंडर बुक करने के बाद, आपके पंजीकृत फोन नंबर पर एक कोड भेजा जाएगा।  जब डिलीवरी बॉय आपके सिलेंडर को डिलीवर करता है, तो आपको उसे कोड बताना होगा।  तभी आपको सिलेंडर पहुंचाया जाएगा।

यदि किसी ग्राहक ने वितरक के साथ अपना मोबाइल नंबर अपडेट नहीं किया है, तो डिलिवरी बॉय के पास इसके लिए एक ऐप होगा।  आप ऐप के माध्यम से तुरंत अपना मोबाइल नंबर अपडेट कर सकते हैं।  आपको उसके तुरंत बाद कोड प्राप्त होगा।गलत पते या मोबाइल नंबर वाले ग्राहकों को एलपीजी गैस सिलेंडर की डिलीवरी रोक दी जा सकती है।

वर्तमान में यह प्रणाली प्रायोगिक आधार पर जयपुर में लागू की जा रही है।  इसे अच्छी प्रतिक्रिया मिली है।  एक नवंबर से नई व्यवस्था के अनुसार 100 स्मार्ट शहरों में गैस वितरित की जाएगी।

यह भी पढ़े- बेटी के जन्म के बाद परिवार नियोजन में मुंबई सबसे ऊपर

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement