PMC बैंक पर लगा प्रतिबंध, ग्राहकों के फंसे लाखों


SHARE

पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉपरेटिव बैंक (Punjab and Maharashtra Cooperative Bank) यानी  PMC बैंक के खाता धारकों के लिए एक झटका देने वाली खबर है। अनियमितता बरतने के आरोप में भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने PMC बैंक पर छह महीने का प्रतिबंध लगा दिया है, इससे अब बैंक कोई भी बैंकिंग संबंधी कार्य नहीं कर पाएगा। यही नहीं खाता धारक भी न तो पैसा जमा कर पाएंगे और न ही निकाल पाएंगे।

हालांकि ग्राहकों को इतनी राहत दी गयी है कि वे इन छह महीनों में बैंक से मात्र एक हजार रूपये निकाल सकेंगे। बैंक की ओर से ये मैसेज ग्राहकों को भेजा गया है। साथ ही, बैंक की ब्रांच के बाहर भी ये निर्देश लिख दिए गए हैं। इसके बाद मुंबई में बैंक की ब्रांच के सामने जोरदार हंगामा शुरू हो गया है।


RBI ने साफ कहा है कि PMC बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं होगा। साथ ही बैंक ने यह भी कहा है कि अगली सूचना आने तक PMC बैंक वित्तीय प्रतिबंधों के साथ अपने बैंकिंग व्यवसाय को जारी रख सकता है। हालांकि रिज़र्व बैंक परिस्थितियों के आधार पर दिए गये इस छुट में बदलाव पर विचार कर सकता है। 

RBI ने  बैंकिंग विनियमन अधिनियम 1949 की धारा 5, धारा 3 की उपधारा (1) की धारा 5 के तहत ही इन प्रतिबंधों को लागू किया है। इस प्रतिबंध के तहत बैंक न तो लोन दे सकेगा और न ही कोई  बिजनेस कर सकेगा। साथ ही ग्राहक अपने सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट या किसी भी अन्य जमा खाते से 1,000 हजार से अधिक पैसे नहीं निकाल सकेगा, इन सभी का असर ग्राहकों पर भी पड़ सकता है।

PMC बैंक आरबीआई से बिना अनुमति के अपनी मर्जी से कही निवेश भी नहीं कर सकता है। हालांकि कर्मचारियों की सैलरी देने जैसे बेहद जरूरी चीजों में छूट दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बैंक पर कई बार अनियमितता का आरोप लग चुका है। बैंक पर खराब कॉर्पोरेट गवर्नेंस को लेकर भी सवाल उठ चुके हैं, जिसके तहत यह कार्रवाई की गयी है।

मुंबई में स्थित कई PMC बैंक के बाहर ग्राहकों की भीड़ लगी है, किसी को कुछ नहीं पता है। ग्राहक अपने पैसे को लाकर बेचैन हैं। कहीं कहीं ग्राहकों के द्वारा हंगामा करने की भी खबर है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें