SHARE

फ्लि‍पकार्ट और वॉलमार्ट की डील को कॉम्पिटीशन कमीशन ऑफ इंडि‍या (CCI) की मंजूरी देने के बाद अब इसका विरोध भी शुरू हो गया है. इस डील के खिलाफ ट्रेडर्स एसोसिएशन 28 सितंबर भारत बंद करेंगी। यही नहीं कारोबारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने कहा है कि‍ वह इस डील के खि‍लाफ कोर्ट में भी अपील कर दी है। आपको बता दें कि भारत की ई-कॉमर्स कम्पनी फ्लिपकार्ट के 75 फीसदी हिस्सेदारी को वालमार्ट  ने ख़रीदा है जिससे भारत में व्यापार करने का रास्ता वालमार्ट का रास्ता खुल गया है.  

 

ट्रेडर्स करेंगे भारत बंद का आंदोलन 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के जनरल सेक्रेटरी प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि इस डील के खिलाफ 15 सितंंबर से दिल्ली से ट्रेडर्स की रथ यात्रा शुरू करेंगे जो देश के 28 राज्यों में निकाली जाएगी। और 28 सितंंबर को ट्रेडर्स द्वारा देशव्यापी आंदोलन कर भारत बंद करेंगे 

इसीलिए ट्रेडर्स कर रहे हैं विरोध
अंदेशा जताते हुए खंडेलवाल ने कहा कि वॉलमार्ट भले ही देश में ऑनलाइन मार्केट के जरिए एंट्री कर रही है लेकिन आगे चलकर वह ऑफलाइन बाजार में भी आएगी। उन्होंने आगे कहा कि इतने बड़े कंपनी के सामने छोटी कंपनियां नहीं टिक पाएंगी और वे कॉम्पिटीशन में पिछड़ जाएंगे। उनका बिजनेस बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने बताया कि देश में इस वक्‍त लगभग 7 करोड़ रिटेलर्स हैं, जिनमें से लगभग 3 करोड़ रिटेलर्स को इस डील से सीधे तौर पर नुकसान होने वाला है।

भारत की सबसे बड़ी डील में से एक 
आपको बता दें कि 19 अगस्त को अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट ने भारत की ई-कॉमर्स साइट फ्लिपकार्ट में 75 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदी थी। इस सौदे की कीमत करीब 1 लाख करोड़ रुपए आंकी गई है।  

पढ़ें: वॉलमार्ट ने खरीदा फ्लिपकार्ट को

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें