PMC में फंसे आपके पैसे, ऐसे करे EMI का टेंशन दूर!

इन तरीको से आप अपनी EMI बाउंस होने से बचा सकते है

SHARE

आरबीआई ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) पर 6 महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिए। आरबीआई के इस आदेश के बाद पीएमसी बैंक नए लोन नहीं दे सकेगा, ना ही पुराने लोन रिन्यू कर सकेगा। कोई निवेश नहीं कर सकेगा ना ही कर्ज या जमा ले सकेगा। बैंक के  खाताधारक 1000 रुपए से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे। बैंक में खाता धारको के सामने अब अपने EMI और अन्य खर्चो को लेकर भी समस्या खड़ी हो गई है।  हालांकी कुछ ऐसे रास्ते है जिनसे आप अपनी EMI का टेंशन कम कर सकते है। 


1) दूसरे बैंक से कराए ECS- ECS फॉर्म का इस्तेमाल बैंक में EMI की व्यवस्था शुरु करने के लिए की जाती है। PMC बैंक के कई खाताधारको ने अपने अपने अलग EMI को इस बैंक से लिंक कराया है, हालांकी बैंक के व्यवहार बंद होने के बाद अब बैंक से किसी भी तरह की इएमआई नहीं कटेगी। लिहाजा PMC बैंक के खाता धारको को जल्द से जल्द किसी और बैंक से  ECS फॉर्म लेकर ने बैंक से इएमआई लिंक कराए।


2) लोन देनेवाली कंपनी को दे जानकारी- MC बैंक के कई खाताधारको ने अपने अपने अलग EMI को इस बैंक से लिंक कराया है, लिहाजा ग्राहको को सबसे पहले अपने द्वारा ली गई लोन कंपनी को ईस बात की जानकारी दे।  लोन कंपनी को बताए की बैंक ने व्यवहार करना बंद कर दिया है।  लिहाजा आप ईएमआई की तारीख के पहले ही लोन की ईएमआई को लोन कंपनी में कैश में जमा करा सकते है जिससे आपके उपर  देर से  इएमआई के उपर लगनेवाली पेनाल्टी नहीं लगेगी।


3) किसी और ऐप के जरिए भी कर सकते है भूगतान- मार्केट में ऐसे कई ई वॉलेट ऐप है जैसे पेटीएम, मोबिक्विक जहां पर कई कंपनियों के लोन की ईएमआई पेमेंट की सुविधा है आप इन ई वॉलेट से भी लोन की इएमआई भर सकते है। 


बैंक बंद नहीं सिर्फ व्यवहार बंद

आरबीआई ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी) पर 6 महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया है । इसका मतलब ये ही की बैंक बंद नहीं हुआ है ,सिर्फ 6 महिने के लिए बैंक के व्यवहार पर रोक लगी हुई है।  यानी की 6 महिने के बाद बैंक फिर से पहले की तरह काम करना शुरु कर देगा। 

पीएमसी की 137 शाखाएं

पीएमसी अरबन को-ऑपरेटिव बैंक है। महाराष्ट्र, नई दिल्ली, कर्नाटक, गोवा, गुजरात, आंध्रप्रदेश और मध्यप्रदेश में इसका कामकाज है। इसकी 137 शाखाएं हैं। यह देश के टॉप-10 को-ऑपरेटिव बैंकों में शामिल है। बैंक की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक 31 मार्च तक कर्मचारियों की संख्या 1,814 थी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें