वसई में घायल अवस्था में मिला फ्लेमिंगो पक्षी

पालघर जिले के वसई में समुद्र के किनारे एक फ्लेमिंगो नामक पक्षी जख्मी हालत में मिला जिस पर आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया था। स्थानीय रहिवासियों ने पक्षी को कुत्ते से बचा कर नेचर एंड एनवायरनमेंट सोसाइटी नामकी NGO को सौंप दिया। NGO वाले पक्षी को मुंबई  के एनिमल हॉस्पिटल में ले गये जहां अब उसका इलाज होगा। फ्लेमिंगो पक्षी साऊथ अफ्रीका में पाये जाते हैं।

एनजीओ के चेयरमेन सचिन मेन की माने तो फ्लेमिंगो नामक पक्षी साऊथ अफ्रीका में पाए जाते हैं लेकिन कुछ सालों पहले इनका जन्म भारत में भी हुआ है। गुजरात के कच्छ में देखे जाने वाले यह पक्षी ज्यादातर जून महीने में दिखते हैं। यह पक्षी जहां भी जाते है इनका पूरा झुण्ड होता है। हालाँकि यह पक्षी जख्मी होने के कारण वापस नहीं जा पाया होगा, जब यह अकेला समुन्दर के किनारे घूम रहा था तभी कुछ कुत्तों ने इस पर हमला कर दिया। इस वजह से यह जख्मी हो गया।

एनजीओ के चेयरमैन सचिन ने बताया कि वसई विरार महानगरपालिका के पास ऐसा कोई सुविधा नहीं है कि किसी भी जानवर का इलाज हो सके। कुछ दिन पहले वसई समुद्र किनारे बड़े बड़े 3 कछुए जख्मी हालत में मिले थे जिनकी चौड़ाई लगभग 3 फिट थी, लेकिन मनपा के पास सुविधा न होने के कारण उसको ठाणे के हॉस्पिटल में इलाज के लिए ले जाया गया। NGO की मांग है कि वसई विरार महानगपलिका में भी जानवरों के इलाज के लिए अस्पताल होना चाहिए।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

 

Loading Comments