अंधेरी ब्रिज हादसा- घायल अस्मिता काटकर का निधन!

3 जुलाई को अंधेरी स्टेशन के पास ब्रिज गिरने से 6 लोग घायल हो गए थे, जिसमे से अस्मिता एक थी।

SHARE

3 जुलाई को भारी बारिश के कारण अंधेरी स्टेशन के पास गोखले ब्रिज गिरने के कारण 6 लोग घायल हो गए थे। इन घायलों में से एक अस्मिता काटकर का इलाज चल रहा था , वह पिछलें कुछ दिनों से कोमा मे थी। शनिवार को उनका निधन हो गया। 36 वर्षीय अस्मिता अपने बच्चे को स्कूल छोड़कर वापस अपने घर आ रही थी की उसी दरम्यान ये हादसा हो गया और कोमा में जाने के बाद उनकी मौत हो गई।

शाम 6 बजकर 32 मिनट पर मौत

कूपर अस्पताल के मेडिकल अधीक्षक राजेश सुखदेव ने बताया की शनिवार शाम 6 बजकर 32 मिनट पर उनकी मौत हो गई। 36 वर्षीय अस्मिता काटकर सावंतवाडी में रहती है। वो घरों में रोटी बनाकर पैसे कमाती थी और उनके पति रिक्शा चलाते है।

यह भी पढ़े- अंधेरी हादसे के लिए रेलवे जिम्मेदार - महापौर

काटकर अपने बेटे को स्कूल छोड़ने के लिए उस पुल का रोजाना इस्तेमाल करती थी। 3 जुलाई को पुल गिरने के कारण वह मलबे के नीचे फंसे गई। जब काफी देर तक स्मिता घर नहीं आई तो उनके घरवाले चिंतित होना शुरु हो गए। जब उन्होने टीवी देखा तो अंधेरी ब्रिज हादसे के बार में उन्हे खबर मिली। अस्मिता के घरवालो को लगा की वो ब्रिजे के मलबे के नीचे फंसी हो सकती है , उनके भाई संजय गवस घटना स्थल पर पहुंचे और मुंबई की अग्निशामक और एनडीआरएफ के अधिकारियों को उनकी बहन की तलाश में सूचित किया। जिसके बाद अस्मिता को मलबे के बाहर निकाला गया था।

यह भी पढ़े- वडाला के बाद अब घाटकोपर में भी जमीन धंसी

अस्मिता 5 दिनों तक जिंदगी से लड़ती रही, लेकिन अंत में प्रशासन की लापरवाही ने उन्हे मौत के मुंह में ढकेल दिया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें