बीएमसी का 'सिंघम'

मुंबई - मदनपुरा, नागपाडा, पायधुनी, मस्जिद बंदर, अब्दुल रेहमान स्ट्रीट की पहचान यहां के अवैध निर्माणकार्यों से होती है। यह इलाके अतिक्रमण का अड्डा हैं। अंडरवर्ल्ड डॉन, गुंडे, बदमाशों का यहां जमावड़ा लगा रहता है। यहां आने का मतलब जान जोखिम में डालना है, लेकिन अब इस अतिसंवेदनशील इलाके में घुसकर अनाधिकृत निर्माणों पर महापालिका का एक अधिकारी कार्रवाई कर रहा है। इस जिगरबाज अधिकारी का नाम है उदयकुमार शिरुरकर, जो महापालिका के बी विभाग कार्यालय में सहायक आयुक्त के पद पर कार्यरत है। गो.रा.खैरनार जैसे अतिसंवेदनशील इलाके में घुसकर अतिक्रमण को ध्वस्त करने के चलते उदयकुमार शिरुरकर डिमॉलिशन मैन भी बुलाया जाता है।

Loading Comments