Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
53,09,215
Recovered:
47,07,980
Deaths:
79,552
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
37,656
1,657
Maharashtra
5,19,254
39,923

मुंबई : मानसून पूर्व नाला सफाई का काम फरवरी के अंत तक होगा शुरू

नगर निगम के वर्षा जल संचयन विभाग का कहना है कि, मीठी नदी की 80 फीसदी सफाई मानसून से पहले और शेष 20 फीसदी सफाई मानसून के बाद करने का प्रस्ताव है।

मुंबई : मानसून पूर्व नाला सफाई का काम फरवरी के अंत तक होगा शुरू
SHARES

नाला सफाई को लेकर हर साल BMC करोड़ों रुपये खर्च करती है, बावजूद इसके अगर मुंबई में ज्यादा बारिश (monsoon) होती है तो मुंबई (mumbai) में सड़कें भर जाती हैं, या फिर बाढ़ (flood) जैसी स्थिति बन जाती है। इस जल भराव (water logging) के कारण मुंबई के कई निचले इलाकों में सड़क यातायात से लेकर रेल यातायात तक बाधित हो जाता है। इसलिए, बीएमसी (BMC) की तरफ से हर साल मानसून (monsoon) से पहले मुंबई में नदियों और नालों की सफाई का काम किया जाता है। यह काम इस बार भी शुरू है। बताया जा रहा है कि, उस बार यह काम फरवरी के अंत तक शुरू हो जाएगा। इस पर 152.25 करोड़ रुपए खर्च होने की उम्मीद है।

इस काम को हाल ही में हुई बैठक के दौरान BMC की स्थायी समिति ने मंजूरी दी। BMC द्वारा बारिश के पानी को शहर से बाहर निकालने के लिए लगातार विभिन्न उपायों को लागू करती है। इसके तहत, मीठी नदी (mithi river) सहित बड़े नालों की सफाई नियमित रूप से की जाती है। आमतौर पर बड़े नालों की सफाई मानसून से पहले 75 फीसदी, मानसून के दौरान 15 फीसदी और मानसून के बाद 10 फीसदी की जाती है।

BMC के रेन वाटर ड्रेनेज विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, मुंबई नगर निगम के शहरी क्षेत्रों में लगभग 32 किमी लंबी नालियाँ हैं। इसकी सफाई पर 12.19 करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है।

पूर्वी उपनगरों के प्रमुख नालों की लंबाई लगभग 100 किमी है और इनकी साफ-सफाई की लागत 21.03 करोड़ रुपये है। पश्चिमी उपनगरों में 140 किमी लंबे नालों की सफाई के लिए 29.37 करोड़ रुपये खर्च करने की उम्मीद है।

मुंबई, पूर्वी उपनगर और पश्चिम उपनगर, इन तीनों क्षेत्रों में स्थिति मीठी नदी का लगभग 20 कि.मी की सफाई के काम को मंजूरी दी गई है। इस पर 89.77 करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है।

नगर निगम के वर्षा जल संचयन विभाग का कहना है कि, मीठी नदी की 80 फीसदी सफाई मानसून से पहले और शेष 20 फीसदी सफाई मानसून के बाद करने का प्रस्ताव है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें