क्या है बीएमसी की नई पार्किंग नीति? जानें

 Mumbai
क्या है बीएमसी की नई पार्किंग नीति? जानें
क्या है बीएमसी की नई पार्किंग नीति? जानें
क्या है बीएमसी की नई पार्किंग नीति? जानें
See all

शहर में वाहनों की संख्या चिंताजनक रूप से बढ़ रही है। लोग लाखों रुपए खर्च करके वाहन खरीदते हैं, लेकिन अपनी कारों को पार्क करने के लिए कोई जगह नहीं पाते हैं। लोगों को सुरक्षित पार्किंग की आवश्यकता महसूस होने लगी है और इसलिए शहर में 'ए' वार्ड निवासियों के लिए बीएमसी ने एक विशेष योजना शुरू की है। यह 'आवासीय पार्किंग योजना' एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में लागू किया जा रहा है और अगर यह सफल होता है, तो यह अन्य बीएमसी वार्डों में लागू किया जाएगा।

इस योजना के तहत स्थानीय निवासी सड़क पर अपने वाहनों को “आरक्षित” पार्किंग की जगह पर पार्क कर सकते हैं। विशेष रूप से सड़क पर रिजर्व पार्किंग की जगह एक वर्ष के लिए आरक्षित होगा। यह योजना 'वैकल्पिक' है और केवल उन वाहन मालिकों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाएगा जो सहकारी गृहरचना संस्था के मार्फत इसके लिए आवेदन करेंगे। पुलिस से अनापत्ति प्रमाणपत्र हासिल करने के बाद, इस योजना के आवेदक को एक वर्ष के लिए राशि का भुगतान करना होगा और वह उसी के अनुसार लाभार्थी के वार्ड कार्यालय के माध्यम से भेजी जाएगी। वाहन के लिए इस आरक्षित पार्किंग की अवधि 12 घंटे (रात 8 बजे से सुबह 8 बजे) होगी। बीएमसी के मुख्य इंजीनियर (सड़कें) संजय दराडे ने बताया कि आवासीय पार्किंग योजना वैकल्पिक है और वाहन मालिकों के लिए एक निश्चित पार्किंग की जगह उपलब्ध कराने के लिए तैयार किए जा रहे हैं। यह योजना सभी सड़कों पर लागू नहीं किया जाएगा ।

पर्यटक स्थल पर पार्किंग की सुविधा
बीएमसी के तहत क्षेत्र में कई पर्यटक स्थल है। पर्यटकों के लिए नए पार्किंग नीति पर विचार किया गया है और यह पर्यटकों के अनुकूल है। इस नीति में सुविधाओं को शामिल किया गया। सार्वजनिक छुट्टियों और विशेष रूप से रविवार को पार्किंग फीस में 50% रियायत का प्रावधान बीएमसी द्वारा स्वीकार कर लिया गया है। सिविल बॉडी ने भी इस तरह के गेटवे ऑफ इंडिया, जुहू चौपाटी, गिरगांव चौपाटी, छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय आदि के रूप में महत्वपूर्ण पर्यटन स्थानों पर नि: शुल्क पार्किंग की सुविधा प्रदान करने के लिए योजना बनाई है।


Loading Comments