बीएमसी की सिर्फ 20 प्रतिशत निधि ही खर्च

 Pali Hill
बीएमसी की सिर्फ 20 प्रतिशत निधि ही खर्च

मुंबई - बीएमसी चुनाव के लिए सारी राजनीतिक पार्टियां तैयार हो गई हैं। सत्ताधारी पार्टी की ओर से विकास कार्यों के उद्घाटन का दौर शुरु हो गया है। लेकिन बीएमसी ने अभी तक अपने पूरे आर्थिक बजट का सिर्फ 20 प्रतिशत की खर्चा किया है। तो वही कुछ दिनों में बीएमसी चुनाव को देखते हुए आचार संहिता लागू हो सकती है। जिसे देखते हुए अब बाकी के रकम का खर्च हो पाना मुश्किल ही दिख रहा है। बीएमसी के 2016-17 में बीएमसी ने 37 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश किया था।

कहां खर्च हुए पैसे

-सड़क विभाग के लिए, 3,886.02 करोड़ का प्रावधान, खर्च - 80 करोड - 2.7 प्रतिशत काम

-स्वास्थ्य विभाग, 904.64 करोड़ का प्रावधान, खर्च - 159.55 करोड़ , 17.64 प्रतिशत काम

-शिक्षण विभाग, 324.57 करोड़ का प्रावधान, खर्च - 58.82 करोड़ , 18.12 प्रतिशत काम

-जल विभाग और मलनिस्सारण, 2575.31 करोड़ का प्रवाधान , 475.30 करोड़ खर्च , 18.46 प्रतिशत काम

-अग्निशमन विभाग, 323 करोड़ का प्रावधान, 67.47 करोड़ खर्च, 20.84 प्रतिशत काम

-आईटी विभाग 134.82 करोड़ का प्रावधान, 58.73 करोड़ खर्च, 43.56 प्रतिशत काम

-घनकचरा 234.89 करोड़ का प्रावधान, 46.38 करोड़ खर्च, 19.74 प्रतिशत काम

-गार्डेन 383.82 करोड़ का प्रावधान, 96.56 करोड़ खर्च, 25.16 प्रतिशत काम

-देवनार 54.81 करोड़ का प्रावधान, 1.25 करोड़ खर्च, 2.28 प्रतिशत काम

-मार्केट 74.58 करोड़ का प्रावधान, 13.42 करोड़ खर्च, 17.99 प्रतिशत काम

Loading Comments