Advertisement

नो मास्क नो इंन्ट्री!


नो मास्क नो इंन्ट्री!
SHARES

महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना रोगियों (Coronavirus) की संख्या बढ़ रही है।  लेकिन किसी भी मामले में, नागरिक स्थिति के बारे में गंभीर नहीं हैं।  आज भी समाज में बहुत से लोगों को बिना मास्क पहने या ठीक से मास्क पहने हुए देखा जाता है।  लेकिन ऐसे गैर-जिम्मेदार नागरिकों के लिए नगर पालिका(BMC) ने कड़ी मेहनत की है।  ग्रेटर मुंबई नगर निगम ने 'बिना मास्क' के बड़े पैमाने पर जन जागरूकता अभियान(Awarness campaign)  शुरू किया है।

कार्रवाई के आदेश

बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने मास्क न पहनने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई तेज करने का निर्देश दिया है।  इस संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई।  इसमें BMC के बहुत वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया था।

'नो मास्क, नो एंट्री'

इस अवसर पर, आयुक्त ने कहा कि बीएमसी के क्षेत्र के सभी कार्यालयों, प्रतिष्ठानों, मॉल, सोसाइटी, सभागार आदि को 'नो मास्क, नो एडमिशन', 'नो मास्क, नो एंट्री'(No mask no entry)  जैसे संकेत देने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही सभी बसों, टैक्सियों, रिक्शा आदि पर एक ही विषय पर स्टिकर लगाने के निर्देश दिए गए हैं।  नगर आयुक्त ने इन आदेशों को सख्ती से लागू करने के निर्देश भी दिए हैं

200 रुपये जुर्माना

ग्रेटर मुंबई नगर निगम लगातार जन जागरूकता गतिविधियों को अंजाम दे रहा है।  इसके अलावा, उन लोगों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई पहले से ही शुरू की गई है जो प्रत्येक स्थान पर 200 रुपये की दर से सार्वजनिक स्थानों पर ठीक से मास्क नहीं पहनते हैं।  नगरपालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने इस कार्रवाई को अधिक व्यापक और गहन बनाने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ेसोनू सूद को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम पुरस्कार से सम्मानित किया

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय