झोपड़पट्टी में प्रति व्यक्ति 90 तो बिल्डिंगों में प्रति व्यक्ति 180 लीटर पानी देगी बीएमसी


SHARE

मुंबईकरों के लिए खुशखबरी है। बीएमसी ने निर्णय लिया है कि अब झोपड़पट्टी में रहने वाले परिवार के हर सदस्य को 90 लीटर पानी उपलब्ध कराये जाएंगे, पहले बीएमसी हर परिवार के सदस्य को मात्र 45 लीटर पानी ही उपलब्ध कराती थी। पानी की मात्रा को बढ़ाये जाने की मांग काफी दिनों से उठ रहे थी, जिसे अब जाकर बीएमसी ने यह निर्णय लिया है। यही नहीं बिल्डिंगों में रहने वाले परिवार के हर सदस्य के लिए भी 180 लीटर पानी देने का भी प्रस्ताव है। बीएमसी ने इस प्रस्ताव को मंजूर कर दिया है।


मुंबई को तानसा, मोडकसागर, वैतरणा, तुलसी, विहार, भातसा और मध्य वैतरणा बांध से हर दिन 3750 करोड़ लीटर पानी उपलब्ध कराया जाता है। इस पानी को बीएमसी मुंबई के हर परिवार में 5 सदस्यों के औसतन हिसाब से पानी देती है, जो झोपड़पट्टी में रहने वाले हर परिवार को पहले 45 लीटर के हिसाब से और बिल्डिंग में रहने वाले परिवार के सदस्यों के लोगों के लिए 135 लीटर पानी दिया जाता है।

शिवसेना नगरसेविका सुजाता पाटेकर ने बताया कि इसके पहले 500 स्क्वायर फुट से अधिक घरों में रहने वालों लोगों के लिए 7 व्यक्तियों का औसत एवरेज तय किया गया था लेकिन मुंबई में लगातार होने निर्माण और बढ़ती जनसंख्या के कारन सदस्यों की संख्या को घटा कर 7 से 5 कर दिया।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के अनुसार प्रति मनुष्य 180 लिटर्स के हिसाब से पानी देने की आवश्यकता होती है बावजूद इसके झोपड़ों में रहने वालों के लिए मात्र 45 लीटर पानी दिया जाता है। इसे देखते हुए निर्णय लिया गया है की गयी कि अब झोपड़ों में प्रति व्यक्ति 90 तो बिल्डिंगों में 180 लीटर पानी दिया जायेगा।

हालांकि इस बढ़े हुए पानी की मात्रा के कारण बीएमसी बिलों में कोई बढोत्तरीन यही करेगी अगर पानी का उससे अधिक उपयोग होता है तो बिल में भी बढ़ोत्तरी होगी।


संबंधित विषय