अमेरिकन रोबोट से साफ़ होंगे नाले, जलभराव से मिलेगी मुक्ति?

सूत्रों की माने तो इस रोबोट में कई खूबियाँ है। यह रोबोट 42 इंच उंचा, 42 इंच चौड़ा और 120 इंच लंबा है। इस अमेरिकन रोबोट को अप्रैल महीने से काम पर लगा दिया जाएगा। एक ही जगह पर 360 डिग्री तक घुमने वाला यह रोबोट एक बार में अधिकतम 700 किलो तक कीचड़ साफ़ कर सकता है।

SHARE

बारिश के मौसम में सड़क पर होने वाले जलभराव से जल्द ही मुंबईकरों को छुटकारा मिल सकता है, क्योंकि बीएमसी अब रोबोट की सहायता से उन नालों की भी सफाई करेगी जहां कर्मचारी नहीं पहुंच पाते थे। इन रोबोट को अमेरिका से मंगाया गया है। ये रोबोट रेलवे ट्रैक से लगे नालों, नीचले स्थान पर जमा हुए पानी और कीचड़ों को साफ़ करेगा जिससे पानी जमा नहीं होगा।  

जैसा की आप जानते ही हैं कि मानसून पूर्व बीएमसी करोड़ो रुपए खर्च करके नालों की साफ सफाई करती है, बावजूद इसके लोगों को जल भराव का सामना करना पड़ता है, क्योंकि नालों की सफाई  ठीक से नहीं होती और जो नाले नीचले क्षेत्र में हैं वे तो साफ़ ही नहीं होते क्योंकि वहां न तो बीएमसी कर्मचारी पहुंच पाता है और न ही कोई मशीन। जिसके फलस्वरूप मिट्टियों से जाम हुई नालियों में से पानी नहीं निकल पाता और पानी बह कर सड़कों पर आ जाता है जिससे लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ता है।

लेकिन अब ये जो अमेरिकी रोबोट है यह नीचले स्थानों के नालों की भी सफाई बड़ी ही कुशलता से कर सकेगा। जिससे पानी आसानी से बह जाएगा और जब पानी बह जाएगा तो जमा नहीं होगा। इस तरह जलभराव की स्थिति भी नहीं बनेगी।

सूत्रों की माने तो इस रोबोट में कई खूबियाँ है। यह रोबोट 42 इंच उंचा, 42 इंच चौड़ा और 120 इंच लंबा है। इस अमेरिकन रोबोट को अप्रैल महीने से काम पर लगा दिया जाएगा। एक ही जगह पर 360 डिग्री तक घुमने वाला यह रोबोट एक बार में अधिकतम 700 किलो तक कीचड़ साफ़ कर सकता है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

अमेरिकन रोबोट से साफ़ होंगे नाले, जलभराव से मिलेगी मुक्ति?
00:00
00:00