अधर में 24 घंटे पानी सप्लाई की योजना

    Mumbai
    अधर में 24 घंटे पानी सप्लाई की योजना
    मुंबई  -  

    मुंबई - मुंबईकरों को चौबीस घंटे पानी की सप्लाई करने का आश्वासन शिवसेना ने दिया था। लेकिन तीन वर्ष के बाद भी मुलुंड और खार पश्चिम भाग में प्रायोगिक आधार योजना पूर्ण नहीं हो पाई है। मुंबईकरों को पीने के पानी व अन्य इस्तेमाल के लिए स्वतंत्र जलवाहिनी से पानी की सप्लाई किया जाए, इस संकल्प की सूचना के अभिप्राय को स्थायी समिति के सामने रखा गया, जिसपर बोलते हुए भाजपा के गटनेता मनोज कोटक ने कहा कि मुंबईकरों को चौबीस घंटे पानी की सप्लाई करने के लिए 'टी' और 'एच/ पश्चिम' विभाग में प्रायोगिक आधार पर प्रकल्प योजना शुरू की थी। लेकिन 3 वर्ष के बाद भी प्रायोगिक प्रकल्प योजना में चौबीस घंटे पानी की सप्लाई नहीं की जा रही है।
    मनोज कोटक ने कहा कि अब तक इस कार्य के लिए स्विस कंपनी के ठेकेदारों को 28 से 30 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं और 70 से 80 करोड़ रुपए बकाया है, लेकिन इतना पैसा खर्च करने के बाद भी मुंबईकरों को 24 घंटे पानी नही दिया जा रहा। कंपनी के पास 350 से 400 कर्मचारी वर्ग हैं और महापालिका जलअभियंता विभाग के पास केवल 13 कर्मचारी हैं, जिससे मालूम होता है कि यह योजना सिर्फ कागजों पर ही है।
    मनोज कोटक ने कहा कि जलअभियंता अशोककुमार तवाडिया ने कंपनी को 63 महिनों के लिए यह ठेका दिया है, जिसमें से तीन वर्ष खत्म हो चुके हैं। कंपनी को पानी सुधार कर 24 घंटे सप्लाई करने का ठेका दिया गया है। इसके अंतर्गत जलवाहिनी का सर्वेक्षण, जीआयएस मैपिंग, मैप्स, सामान वितरण, ग्राहकों का सर्वेक्षण, झोपडपट्टी सुधार आदि काम उन्हें सौंपा गया है।
    इस स्विस कंपनी को काम देना एकप्रकार से महापालिका का दामाद होने का आरोप इससे पहले कांग्रेस के आसिफ जाकेरीया ने लगाया था। वहीं सपा के रईस शेख और बीजेपी के प्रभाकर शिंदे ने भी इस मामले को लेकर बीएमसी को आड़े हाथों लिया।

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.