• विसर्जन स्थलों पर फोटो खिंचना पड़ सकता है भारी
SHARE

गिरगांव चौपाटी में विसर्जन के दौरान मूर्तियों की फोटो खींचना अब भारी पड़ सकता है, ऐसा करने पर मुंबई पुलिस या फिर बीएमसी के लोग आपका मोबाइल फोन अथवा कैमरा जब्त कर सकते हैं। लोगों की धार्मिक भावनाओं को देखते हुए यह निर्णय मुंबई पुलिस और बीएमसी ने यह निर्णय लिया है। 

गिरगांव चौपाटी पर प्रशासन ने विसर्जन स्थल को ही फोटो खींचने के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर दिया। गिरगांव में जगह जगह बोर्ड लगा कर लोगों को फोटो नहीं खींचने के लिए सूचित किया गया है। 


आपको बता दें कि विसर्जन के बाद मूर्तियां समुद्र में से बह कर बाहर आ जाती हैं। ये मूर्तियां बह कर जब बाहर आती हैं तो विखंडित होती हैं, इन्हे देख कर किसी भी भावनाएं आहत न हो इसीलिए हाईकोर्ट ने विखंडित मूर्तियों की फोटो खींचने पर रोक लगा दी थी। साथ ही प्रशासन द्वारा इस बात की भी आशंका जताई गयी कि खंडित मूर्तियों से असामाजिक तत्व समाज में धार्मिक विघटन पैदा कर सकते हैं।

इस बारे में डी विभाग के सहायक आयुक्त विश्वास मोटे ने बताया कि यहां बड़ी संख्या में बड़ी मूर्तियां विसर्जित की जाती हैं। इसीलिए यहां पर अनेक स्थानों पर विसर्जन स्थल बनाये गए हैं और सभी जगह पर फोटो या वीडियो बनाना बैन है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें