तीन दिन बाद बुझी बुचर आइलैंड की आग

 Mumbai
तीन दिन बाद बुझी बुचर आइलैंड की आग

मुंबई के करीब स्थित बुचर आइलैंड (जवाहर द्वीप) पर तीन दिन से लगी आग पर कड़ी मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने आखिरकार काबू पा ही लिया। यह आग शुक्रवार को शाम करीब 5 बजे आकाशीय बिजली गिरने के कारण लगी थी।बुचर आइलैंड एक छोटा से द्वीप है जहां भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेट लिमिटेड की तरफ से विदेशों से आयातित कच्चे तेलों को उतारने का काम किया जाता है।

यह भी पढ़े : बुचर द्वीप की आग 24 घंटे बाद भी धधक रही

यह आग काफी खतरनाक थी, और सबसे ज्यादा जरूरी आग को सिर्फ एक टैंक तक ही सीमित रखना था। अधिकारी टैंक में स्टोर तेल खत्म होने का इंतजार कर रहे थे। इस टैंक में 30 हजार किलोलीटर हाई स्पीड डीजल (एचएसडी) स्टोर था। जिस टैंक में आग लगी थी उसके आसपास कई सारे टैंक भी थे जो कि तेल से भरे हुए थे।

जवाहर द्वीप की आग को सफलता पूर्वक बुझा लिया गया है। इस काम में मुंबई पोर्ट ट्रस्ट (एमपीपीटी), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (बीपीसीएल), ऑइल एंड नेचुरल गैस  कारपोरेशन लि. (ओएनजीसी), स्टेट प्लानिंग एजेंसी(सिडको) की मदद से अग्निशमन दल की सहायता से आग पर काबू पाया गया।

संजय भाटिया, एमबीपीटीचे अध्यक्ष


भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के 13 नंबर टैंक में आग लगी थी। इस आग से कोई हताहत नहीं हुआ। इस घटना से बाजारों में हाई स्पीड डीजल की आपूर्ति में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

 मनोहर राव, कार्यकारी संचालक, बीपीसीएल

बुचर आइलैंड में कच्चे तेल के आयात को भारत के पश्चिमी तट पर स्थित प्रमुख बंदरगाह जवाहर द्वीप पर नियंत्रित किया जाता है। इसका मुंबई पोर्ट द्वारा एक तेल टर्मिनल के रूप में प्रयोग किया जाता है। इसका सीधा मतलब है कि दूर देशों से कच्चा तेल लेकर आने वाले जहाज यहां आकर रुकते हैं और उनसे कच्चा तेल यहां उतारा जाता है। कच्चे तेल को उतारने के बाद इसे पाइप लाइन द्वारा रिफायनरी के लिए भेजा जाता है, फिर इसे वडाला तेल स्टेशन तक लाते हैं और यहां से टैंकर द्वारा सभी पेट्रोल पंप को सप्लाई किया जाता है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

 

 





Loading Comments