Coronavirus cases in Maharashtra: 557Mumbai: 306Pune: 59Thane: 29Islampur Sangli: 25Ahmednagar: 20Nagpur: 16Navi Mumbai: 16Pimpri Chinchwad: 15Kalyan-Dombivali: 10Vasai-Virar: 6Buldhana: 6Yavatmal: 4Satara: 3Aurangabad: 3Panvel: 2Ratnagiri: 2Kolhapur: 2Palghar: 2Ulhasnagar: 1Sindudurga: 1Pune Gramin: 1Godiya: 1Jalgoan: 1Nashik: 1Washim: 1Amaravati: 1Usmanabad: 1Gujrat Citizen in Maharashtra: 1Total Deaths: 21Total Discharged: 42BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

मुंबईकर अब दहिसर, पोयसर, वालभट, ओशिवरा नदीं में ले सकते है बोटिंग का मजा!

बीएमसी मुंबई की सभी नदीयां जो की अब धीरे धीरे नाले का रुप लेती जा रही है , उन नदियों को फिर से जिवित करने की योजना बना रही है

मुंबईकर अब दहिसर, पोयसर, वालभट, ओशिवरा नदीं में ले सकते है बोटिंग का मजा!
SHARE

मुंबईकर अब जल्द ही दहिसर, पोयसर, वालभट के साथ साथ ओशिवरा नदीं में बोटिंग का मजा ले सकते है। दरअसल बीएमसी मुंबई की  सभी नदीयां जो की अब धीरे धीरे नाले का रुप लेती जा रही है , उन नदियों को फिर से जिवित करने की योजना बना रही है और इसके साथ ही बीएमसी इन नदियों को उनका असली रुप में लाने के बाद बोटिंग की सेवा पर भी विचार कर रही है।


बुलेट ट्रेन: बीकेसी से ठाणे मात्र 15 मिनट में, देने होंगे 250 रूपये

सलाहकार की नियुक्ती

मुंबई के दहिसर, पोयसर, वालभट और ओशिवरा नदी में झोपड़पट्टियों से निकलनेवाले पानी के साथ साथ आसपास स्थित फैक्ट्रियों से रासायनिक पदार्थ भी निकलते है जो सीध इन नदियों में जाकर मिलते है। जिसके कारण इन नदियों का पानी काफी खराब हो जाता है। इन नदियों का फिर से साफ सूथरा करने के लिए और इन्हे फिर से इनके मुल रुप में लाने के लिए बीएमसी ने सलाहकार की भी नियुक्ति की है।


प्लास्टिक बंदी पर रोक लगाने से कोर्ट का इनक़ार

क्या है बीएमसी की योजना

बीएमसी इन नदियों में आनेवाले खराब पानी और पदार्थो को सीवेज चैनल के माध्यम से हटाया जाएगा और इसके साथ ही नदी के दोनों किनारो को सुसज्जित, दोनों किनारों का निर्माण, पैदल यात्री पुलों का निर्माण, ठोस कचरा निपटान, नदी के पानी की गुणवत्ता में सुधार, जैव विविधता में सुधार, कांडवन (चाय) उद्यान, भोजन, नौकायन और पक्षी को देखने के लिए सड़कों का निर्माण किया जाएगा।

अतिरिक्त आयुक्त विजय सिंघल ने बताया की सलाहकार की नियुक्ति होने के बाद अब इस बारे में एक योजना तैयार कि जाएगी जिसके बाद इसपर आगे की योजनाओं पर कार्य किया जाएगा।

संबंधित विषय
संबंधित ख़बरें