Advertisement

सासंद गोपाल शेट्टी की मांग , पहले माले के घर को भी एसआरए में मिले जगह

सासंद गोपाल शेट्टी ने इसके लिए गृहनिर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाण से भी मुलाकात की है

सासंद गोपाल शेट्टी की मांग , पहले माले के घर को भी एसआरए में मिले जगह
SHARES

भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई एक तरफ बहुमंजिला इमारतों की नगरी है तो दूसरी तरफ उसी प्रमाण में गरीबों की छोटे छोटे घरों की विशाल झोपड़पट्टी, चाल पद्धति के घरों की भी नगरी है ।झोपड़पट्टी के व्यक्ति के पास घर के अलावा कोई बड़ी सम्पत्ति नहीं होती। अगर उसका मुश्किल से निर्माण किया हुआ घर ही उससे छीन लिया जाय तो वह रास्ते पर आ जाता है । जिसे देखते हुए उत्तर मुंबई से सासंद गोपाल शेट्टी ने अब इस मुद्दे पर आवाज उठाई है। 

राज्य सरकार और केंद्र सरकार लगातार पत्र

उत्तर मुंबई के सांसद गोपाल शेट्टी  ने इसको बारम्बार राज्य सरकार और केंद्र सरकार को पत्राचार के द्वारा अवगत करवाया है। बुधवार २२ जुलाई फिर एक बार सांसद गोपाल शेट्टी गृहनिर्माण मंत्री से मिले और इस विषय पर विस्तार पूर्वक चर्चा की । मुख्य विषय अब यह है कि एक गरीब व्यक्ति अपने कुटुम्ब के व्याप अनुसार यदि पहले माले पर भी घर बांध चुका है और यह नियमानुसार २००० के पूर्व का ही निर्माण हो तो उसे उसके हिस्से का घर सरकारी योजना एसआरए के तहत मिलना चाहिए ।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी लिखा पत्र

सांसद गोपाल शेट्टी ने इस संदर्भ में विस्तृत पत्र भारत सरकार, गृह निर्माण एवं शहेरी विकास मंत्रालय, मंत्री हरदीप सिंह पूरी को दिनांक 9/4/2020 को लिखा । इस पत्र में  सांसद गोपाल शेट्टी ने झोपड़पट्टी पुनर्निर्माण संबंधी सर्व पूर्व संशोधन का भी उल्लेख करते हुए मंत्रालय से विनती की की पहले मझले पर बने हुए निर्माण का भी समावेश किया जाना चाहिए । उसी प्रकार महाराष्ट्र सरकार मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे को भी 2/5/2020 को इस संदर्भ का पत्र दिया । और अब 22 जुलाई पुनः गोपाल शेट्टी ने गृह निर्माण मंत्री जीतेंद्र आव्हाड जी से विस्तृत चर्चा की ।

यह भी पढ़ेकभी कोरोना की मरीजों की संख्या की वजह से सुर्खियों में था मुंब्रा

संबंधित विषय
Advertisement