Advertisement

कोरोना के बीच मानसून में होने वाली बीमारियों से भी लड़ने के लिए तैयार रहें डॉक्टर- उद्धव ठाकरे

जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BMC) में स्थित MMRDA मैदान को अस्पताल में बदल दिया गया है जिसमें लगभग 1,000 बेड हैं।

कोरोना के बीच मानसून में होने वाली बीमारियों से भी लड़ने के लिए तैयार रहें डॉक्टर- उद्धव ठाकरे
SHARES
Advertisement

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जानकारी दी है कि मुंबई में COVID-19 रोगियों की दोगुनी होने की दर बढ़कर 14 दिन हो गई है, इसका मतलब है कि मुंबई में COVID-19 रोगियों की संख्या 14 दिनों की अवधि में दोगुनी हो रही है। इसके पहले यह दर 10 दिन की थी।

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) अस्पतालों में काम कर रहे डॉक्टरों के साथ बातचीत के दौरान, ठाकरे ने उन डॉक्टरों की प्रशंसा की जो पिछले दो महीनों से लगातार Covid -19 से संघर्ष करते हुए मरीजों का इलाज कर रहे हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि जल्द ही इस वायरस पर नियंत्रण पा लिया जाएगा।

उद्धव ठाकरे ने कहा,' मैं आपको (डॉक्टरों) देखकर ऊर्जावान महसूस करता हूं। कोरोनो वायरस महामारी के खत्म होने पर आप ही जीत के असली सूत्रधार होंगे।'

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि, भले ही मुंबई में Covid-19 के रोगियों में वृद्धि हो रही है लेकिन इसकी डबलिंग रेट (रोगियों की संख्या में वृद्धि होने की दर) 14 दिनों की हो गयी है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि बीएमसी COVID-19 मामलों से निपटने के लिए केंद्र द्वारा निर्धारित निर्देशों और प्रोटोकॉल का पालन कर रही है। ठाकरे ने कहा कि सरकार आने वाले समय में अतिरिक्त बेड वाले आईसोलेशन सेंटर और अस्पतालों का निर्माण करेगी।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये डॉक्टरों के साथ बातचीत के दौरान ठाकरे ने कहा कि बीएमसी ने पहले से ही मुंबई में कई स्थानों पर गहन देखभाल इकाइयों (ICU) और क्वारंटाइन सेंटरों की व्यवस्था की है।

जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BMC) में स्थित MMRDA मैदान को अस्पताल में बदल दिया गया है जिसमें लगभग 1,000 बेड हैं।  इसके अलावा, मुंबई के वर्ली में NSCI को भी क्वारंटाइन सेंटर सुविधा वाले अस्पता में बदल दिया गया है।

इसके अलावा, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने BMC अस्पताल के डॉक्टरों को मानसून में होने वाली बीमारियों जैसे डेंगू और लेप्टोस्पायरोसिस के मामलों को संभालने के लिए तैयार करने के भी निर्देश दिए हैं।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र ने 50,231 COVID-19 मामलों के साथ 50,000 का आंकड़ा पार कर लिया है और मरने वालों की संख्या 1,635 हो गई है।  अकेले मुंबई में, कोरोनोवायरस के मामलों की संख्या 30,542 तक पहुंच गई है।

संबंधित विषय
Advertisement