इस स्कूल से पढ़ाई शुरु की थी डॉ .बाबासाहेब अंबेडकर ने !


SHARE

भारत रत्न डॉ .बाबासाहेब अंबेडकर ने आज के ही दिन यानी की 7 नवंबर को सातारा के एक विद्यालय में प्रवेश लिया था। जिसके बाद उन्होने पढ़ाई के क्षेत्र में कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा। राज्य सरकार ने इस दिन को 'विद्यार्थी दिवस' के रुप में मनाने का फैसला लिया है। इस अवसर पर, विभिन्न संगठनों और संगठनों ने कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है।


डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की 126वीं जयंती


7 नवंबर 1900 को डॉ .बाबासाहेब अंबेडकर ने राजवाड़ा सातारा हाई स्कूल (वर्तमान में छत्रपति प्रतापसिंह महाराज हाई स्कूल) में पहली कक्षा में प्रवेश लिया। बाबासाहेब ने इस विद्यालय में 1904 तक शिक्षा ली। 4 साल तक उन्होने इस स्कूल में शिक्षा ली। जिसके बाद से कई लोग स्कूल प्रवेश के लिए सातारा के प्रतापसिंह महाराज हाई स्कूल में गए। कास्ट्राइब के नेता कृष्णा इंगले ने हाल ही में बाबासाहेब के विद्यालय का दौरा किया।


बापू जेब में आते हैं, दिलों में नहीं!


बाबासाहेब का पहला हस्ताक्षर स्कूल रजिस्ट्रार 1914 के सामने है। अंग्रेजी में किया गया हस्ताक्षर आज भी मैजूद है। कृष्णा इंगले ने कहा कि यह ऐतिहासिक दस्तावेज आज भी संभाल कर रखें गए है। डा. बाबासाहेब ने इस विद्यालय में फीस का भुगतान किया था, यही कारण है कि डॉ. बाबासाहेब अंबेडकर ने संविधान में पिछड़े वर्गों को आरक्षण दिया। यहां से शुरू होने वाले आरक्षण के लाभ से सभी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, बेरोजगार, विशेष पिछड़ा वर्ग और अन्य पिछड़ा वर्ग मुख्यधारा में आ गए हैं। इसी उद्देश्य से इस स्कूल में प्रवेश के दिन का जश्न मनाया जा रहा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें