गोवंडी- 28 एएलएम समुदाय और अब भी मुंबई के 'डंपिंग ग्राउंड' के रूप में जाना जाता है। क्यो?

 Govandi
गोवंडी- 28 एएलएम समुदाय और अब भी मुंबई के 'डंपिंग ग्राउंड' के रूप में जाना जाता है। क्यो?

मुंबई में गोवंडी इलाके को 'डंपिंग ग्राउंड' माना जाता है, और ऐसा लगता है कि ये इलाका खुद से कभी इस गंदगी से पार नहीं पा सकता। हालांकी इस इलाके में कई एएलएम है। बावदूद इसके, ये इलाका गंदगी से जुझता आ रहा है।पूरे शहर में गोवंडी उन इलाको में आता है जहां पर 28 एएलएम है। बावजूद इसके इस क्षेत्र में कोई प्रगति नहीं हुई है। सुमन नगर से ट्रॉम्बे और महल से छेडा नगर तक स्थापित एएलएम समुदाय होने के बाद भी 'डंपिंग ग्राउंड' क्षेत्र की स्थिति जस की तस है।कई इलाके एएलएम की मदद के कारण गंदगी से छुटकारा पा चुके है।

 चेंबूर के डायमंड गार्डन इन इलाको में से एक है। लेकिन गोवंडी पिछलें कई सालों से जस का तस है। दरअसल इलाके में कई लोग साफ सफाई अभियान में जनकर भाग लेते है लेकिन समय बितते अनका जोश कम होता चला जाता है।नगरपालिका के मुख्य अधिकारी सुभाष पाटिल का कहना है की यह मामला अब एलएएम मीटिंग में उठाना जाना चाहिए जो हर महीने नगरपालिका के अधिकारियों के साथ होती है। साथ ही अगर क्षेत्र को बदलने के लिए पहल की गई है, तो यहा 'डंपिंग ग्राउंड' की समस्या पूरी तरह से समाप्त हो जाएगी।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

Loading Comments