Advertisement

ESIC अस्पताल आग मामला- फायर ब्रिगेड ने पुराने भवन को दिया था अस्थायी एनओसी

एमआईडीसी पुलिस ने एक आकस्मिक मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और अभी भी मामले की जांच कर रही है

ESIC अस्पताल आग मामला- फायर ब्रिगेड ने पुराने भवन को दिया था अस्थायी एनओसी
SHARES

सोमवार शाम अंधेरी में एमआईडीसी, मारोल में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) अस्पताल में आग लग गई। इस आग में कुल 8 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है तो वहीं दूसरी ओर 177 से भी ज्यादा लोग घायल हो गए है। हालांकी अभी तक आग के सही कारणों का पता नहीं लग सका है , लेकिन फायर ब्रिगेट के अधिकारियों का मानना है की ये आग ग्राउंड फ्लोर पर एसी डक्ट की वजह से लगी होगी।

नई इमारत को अभी भी फायर ब्रिगेड से एनओसी नहीं

एमआईडीसी पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने कहा कि आग लगने के बाद निकलनेवाले धूएं की वजह से लोगों को काफी तकलीफ हुई। एमआईडीसी पुलिस ने एक आकस्मिक मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और अभी भी मामले की जांच कर रही है सूत्रों के मुताबिक, नई इमारत को अभी भी एमआईसीसी फायर ब्रिगेड से एक व्यवसाय प्रमाण पत्र (ओसी) या अंतिम मंजूरी नहीं मिली है।

एक वरिष्ठ अग्निशमन अधिकारी ने कहा कि 12-13 दिन पहले, अस्पताल ने अपनी नई संरचना के लिए अंतिम फायर एनओसी के लिए आवेदन किया था। उन्होंने नई इमारत के लिए अंतिम एनओसी देने से इंकार कर दिया और पुरानी इमारत के एनओसी को अस्थायी श्रेणी में रखा। फिलहाल फायर ब्रिगेड के अधिकारी इसकी जांच कर रहे है।


यह भी पढ़ेअंधेरी कामगार अस्पताल आग मामला - सांसद गजानन कीर्तिकर ने की मृतक के रिश्तेदारों को ज्यादा मुआवजे देने की मांग

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement