मुंबई-पुणे एक्स्प्रेस वे पर ठेकेदारों की चांदी

 Pali Hill
मुंबई-पुणे एक्स्प्रेस वे पर ठेकेदारों की चांदी

मुंबई - मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर नवंबर महीने में टोल वसूली के आंकड़े महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास महामंडल की वेबसाइट पर डाल दिए गए हैं। जो टोल वसूली की निर्धारित संपूर्ण रकम से 13 करोड़ ज्यादा है। 2 हजार 869 करोड़ रुपए की टोल वसूली मार्च 2019 तक की जानी थी जो नवंबर में ही पूरी हो चुकी है। जिसे लेकर लोग उम्मीद कर रहे थे कि अब टोल से छुटकारा मिल जाएगा, लेकिन एमएसआरडीसी ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। एमएसआरडीसी मार्च 2019 तक टोल वसूली जारी रखेगी। दिल्ली उच्च न्यायालय के एक आदेश के अनुसार टोल वसूली की रकम पूर्ण होने पर टोल टैक्स की वसूली बंद होनी चाहिए। इस निर्णय का ठेकेदार और एमएसआरडीसी के अधिकारी खुली अवहेलना कर रहे हैं। टोल विश्लेषक विवेक वेलणकर का कहना है कि निर्धारित रकम से 13 करोड़ ज्यादा की वसूली ठेकेदारों ने की है। अगर ढाई वर्ष और टोल वसूली चालू रही तो ठेकेदार 700 करोड़ की अधिक की कमाई करेंगे। इसलिए तुरंत टोल फ्री किया जाना चाहिए। इसके लिए वेलणकर ने सीएम देवेंद्र फडणवीस को भी पत्र लिखा है।

Loading Comments