अपडेट : अंधेरी MIDC स्थित ESIC अस्पताल में लगी आग, मरने वालों की संख्या हुई 6

अस्पताल में काफी लोग अभी भी मौजूद हैं। दमकलकर्मी कांच को तोड़ कर अंदर फंसे हुए लोगों को बाहर निकाल रहे हैं। बचाव कार्य के दौरान एक शख्स अपनी जान बचाने के लिए इमारत की दूसरी मंजिल से कूद गया जिससे वह जख्मी हो गया और उसकी मौत हो गयी।

  • अपडेट : अंधेरी MIDC स्थित ESIC अस्पताल में लगी आग, मरने वालों की संख्या हुई 6
SHARE

अंधेरी ईस्ट स्थित कामगार अस्पताल में भीषण आग लग गयी है। आग की भयावहता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि मौके पर दमकल की  10 से 12 गाड़ियाँ मौजूद हैं बावजूद इसके आग को बुझाने में काफी दिकत्तों का सामना करना पड़ा। आग लगने के समय अस्पताल में काफी लोग मौजूद थे, जिन्हें अब रेस्क्यू कर लिया गया है। इस आग में कुल 6 लोगों की मरने की खबर है। जबकि घायलों की संख्या 147 बताई जा रही है जिसमें कई डॉक्टर और नर्स भी शामिल हैं। यही नहीं आग बुझाते समय एक दमकलकर्मी भी घायल हो गया है। 


शॉर्ट सर्किट से लगी है आग?
प्रयत्क्षदर्शी लोगों ने बताया कि यह आग लगभग 4 बजे लगी। आग लगने का कारण अभी तक ज्ञात नहीं हुआ है लेकिन आग का कारण लोग शॉर्ट सर्किट का होना बताया जा रहा है। लोगों की माने तो आग अस्पताल के चौथे फ्लोर पर स्थित स्टोर रूम में लगी है। अस्पताल में काफी लोगों के मौजूद होने के कारण  दमकलकर्मियों ने इमारत की कांच तोड़ कर लोगों को बाहर निकाला। बचाव कार्य के दौरान दो महिलाएं अपनी जान बचाने के लिए खिड़की से कूद पड़ी जिसमें से एक महिला की मौत हो गयी जबकि दूसरी बुरी तरह से जख्मी हो गयी।  

स्टोर रूम में लगी है आग?
इस आग को दमकल विभाग ने लेवल चार स्तर का घोषित किया था। आग से उठने वाले धुएं के कारण बचाव कार्य में कुछ परेशानी आ रही थी, दमकलकर्मी लंबी सीढियों के सहारे लोगों को खिड़की के रास्ते उतारने का कार्य किया। इस आग से वेस्टर्न हाईवे जाम हो गया है।

इलाज के दौरान 3 की मौत 
समाचार लिखे जाने तक 147लोगों को रेस्क्यू किया गया था,

जिसमें से 19 लोगों को कूपर अस्पताल में दाखिल कराया गया था इलाज के दौरान 2 लोगों की मौत हो गयी थी और बाकियों का इलाज चल रहा है

कूपर अस्पताल में घायलों और मरने वालों के नाम 

40 लोगों को होली स्पिरिट अस्पताल में दाखिल कराया गया है जिसमें 1 की मौत हो गयी है और एक आईसीयू में है, जबकि 38 लोगों का रिपोर्ट आना बाकी है

जबकि जोगेश्वरी के ट्रामा केयर सेंटर में 39 लोगों को इलाज के लिए दाखिल किया गया है जिसमें से 22 लोगों का इलाज चल रहा है और 17 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है 

सेवेन हिल्स अस्पताल में 44 लोगों का इलाज अभी भी चल रहा है जिसमें से 3 की मौत हो गयी है और 6 लोग आईसीयू में है, 2 लोगों को छुट्टी दे दी गयी है  

पवई के हीरानंदानी अस्पताल में 3 लोगों को दाखिल कराया गया है, एक आईसीयू में है दो लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है

गोरेगांव के सिद्धार्थ अस्पताल में 2 लोगों को दाखिल किया गया है जिनकी स्थिति अब स्थिर है

रेस्क्यू के काम में कोई बाधा न आये इसीलिए अस्पताल के तरह आने वाली सभी सड़कों को एक किलोमीटर के दायरे में खाली करवा लिया गया था  ताकि दमकल की गाड़ियों, पानी की टैकरों और एम्बुलेंस आने जाने में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो। समाचार लिखे जाने तक बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है आग बुझ चुकी थी लेकिन धुंआ अभी भी इमारत से निकल रहा था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें