सपना पुलिस में काम करने का....लेकिन सुविधा कुछ नहीं

विक्रोली - पुलिस कर्मचारियों को दिनभर के कार्य करने में कितनी तकलीफों का सामना करना पड़ता है यह तो आप जानते हैं, लेकिन पुलिस बनने से पहले भी इन्हें कई सरकारी लापरवाहियों का शिकार होना पड़ता है। महाराष्ट्र के अलग अलग जिलों से मुंबई में महाराष्ट्र पुलिस में कांस्टेबल पदों के लिए भर्ती में हिस्सा लेने आये लोगों के लिए ना तो सोने की व्यवस्था और ना ही खाने की।

विक्रोली में पुलिस भर्ती प्रक्रिया 29 मार्च से शुरू है, और ये लोग 2 दिनों से इसी तरह से सड़कों पर अपनी जिंदगी गुज़ार रहे हैं। रोज़ाना करीब 6000 लोग इस भर्ती में हिस्सा ले रहे हैं। सैकड़ों की संख्या में लोग विक्रोली हाईवे के किनारे सर्विस रोड पर पर सोने के लिए मजबूर हैं।

सुविधा ना मिल पाने के वजह से उनको परीक्षा में कई तकलीफें आ रही है लेकिन इरादे और हौसले बुलंद हैं। कुछ पाने के लिए कुछ खोना भी पड़ता है के सिद्धांत को अपनाकर परीक्षा के लिए तैयार हैं। लेकिन पुलिस में भर्ती होकर लोगों और देश की सेवा करने वाले इन नवजवानो के लिए प्रशासन के तरफ से अच्छि सुविधा मुहैया कराने की ज़रूरत है।

Loading Comments