अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप


  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
  • अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके की एक बिल्डिंग में घुसा तेंदुआ, मचा हड़कंप
SHARE

अंधेरी ईस्ट के शेर-ए-पंजाब इलाके में स्थित गार्डन लेन बिल्डिंग में तेंदुए के घुसे होने की खबर से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। घटना करीब सुबह 11 बजे की है। रविवार का दिन होने से लोग घरों में ही थे। सूचना पाकर पुलिस, वन विभाग और दमकल के कर्मचारी भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने बिल्डिंग को चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस स्थानीय लोगों से अपील कर रही थी कि लोग घरों में से बाहर न निकलें। वन विभाग के कर्मचारी तेंदुए की तलाश में थे। 

खबर फैलने से इलाके में मच गया हड़कंप 

रविवार सुबह अचानक शेरे पंजाब इलाके में यह खबर फ़ैल गयी कि गार्डन लेन बिल्डिंग में एक तेंदुए घुस गया है। तेंदुए को घुसते हुए किसने देखा और यह खबर कैसे फैली इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिली? सूचना पाकर मौके पर पुलिस, वन विभाग और दमकल के कर्मचारियों ने पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया था। लोग डर के मारे घरों में से बाहर नहीं निकल रहे थे। संयुक्त रूप से तेंदुए को पकड़ने का शुरू हो गया था। 

नर्सरी में घुसा है तेंदुआ 

मुंबई लाइव के हाथ जो वीडियो लगा है उसमे साफ दिख रहा था कि तेंदुआ सोसायटी में स्थित एक नर्सरी स्कूल की बेंच पर बैठा हुआ है। यह नर्सरी सोसायटी के 5 नंबर बिल्डिंग में है। बताया जाता है कि यह तेंदुआ सुबह 5 बजे बिल्डिंग नंबर 6 में घुसा था और वहां से कूद कर वह 5 नंबर में स्थित नर्सरी में आ गया था।

">

स्थानीय लोग हैरान

आपको बता दें कि आए दिन मानव बस्तियों में तेंदुए के घुस जाने की ख़बरें आती रहती हैं। कभी-कभी तो तेंदुए द्वारा आवारा कुत्तों के शिकार करने के सीसीटीवी फुटेज भी सामने आते हैं, लेकिन अंधेरी का यह इलाका तो आरे के जंगल से दूर है और तेंदुए को यहां तक पहुंचने के लिए लंबी मानव बस्तियों को लांघना पड़ा होगा। तेंदुए का यहां पहुंचना लोगों के लिए काफी हैरान करने वाला है।

स्थानीय निवासी मेघा मकवाना ने बताया कि बिल्डिंग के चारो तरफ पुलिस फैली हुई थी और वो किसी को भी अंदर या बाहर आने जाने नहीं दे रहे थे।

12 घंटे बाद तेंदुआ आया हाथ 

मुंबई पुलिस और वन विभाग की संयुक्त रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद तेंदुए को आख़िरकार 12 घंटे निकाला गया। तेंदुए को बाहर निकालने से पहले उसे दूर से बेहोशी का इंजेक्शन मारा गया। जब तेंदुआ बेहोश हो गया तब उसे स्कूल से बाहर लाया गया। तेंदुए को वन विभाग में अपने कब्जे में ले लिया है उसका मेडिकल ट्रीटमेंट होने के बाद उसे फिर से जंगल में छोड़ दिया जायेगा।

 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें