Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
53,44,063
Recovered:
47,67,053
Deaths:
80,512
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
36,674
1,447
Maharashtra
4,94,032
34,848

गरीबों को नि: शुल्क खाद्यान्न, फेरीवालों और रिक्शा चालको को आर्थिक सहायता...CM ने 'पैकेज' की घोषणा की

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए 15 दिनों के कर्फ्यू की घोषणा की है। यह घोषणा करते समय, मुख्यमंत्री ने विभिन्न घटकों के लिए 5,476 करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज की भी घोषणा की है।

गरीबों को नि: शुल्क खाद्यान्न, फेरीवालों और  रिक्शा चालको को आर्थिक सहायता...CM ने 'पैकेज' की घोषणा की
SHARES

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav thackeray) ने कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ने के लिए बुधवार रात 8 बजे से 15 दिन के कर्फ्यू (Curfew)  की घोषणा की है।  यह घोषणा करते समय, मुख्यमंत्री ने विभिन्न घटकों के लिए 5,476 करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज की भी घोषणा की है।  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार रात सोशल मीडिया के जरिए जनता से बातचीत की।  मुख्यमंत्री ने इस समय यह घोषणा की।


3 किलो गेहूं, 2 किलो चावल मुफ्त

खाद्य सुरक्षा योजना के तहत, 7 करोड़ लाभार्थियों को अगले महीने के लिए 3 किलोग्राम गेहूं (Wheat)  और 2 किलो चावल (Rice)  प्रति व्यक्ति मुफ्त दिया जाएगा। अगले महीने के लिए शिव भोज थली मुफ्त में दिया जाएगा।  प्रतिदिन 2 लाख प्लेट वितरित की जाएंगी।  

निराश्रितों, विधवाओं, अपंगों को अग्रिम लाभ

संजय गांधी निर्धार योजना, श्रवणबल और केंद्र प्रायोजित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था सेवानिवृत्ति योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा सेवानिवृत्ति पेंशन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांगता सेवानिवृत्ति योजना जैसी 5 योजनाओं के लगभग 35 लाख लाभार्थियों को 2 में से प्रत्येक के लिए 1000 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी।

निर्माण श्रमिकों, घरेलू श्रमिकों की मदद करना

महाराष्ट्र में लगभग 12 लाख पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को महाराष्ट्र भवन और अन्य श्रमिक कल्याण बोर्ड के फंड से प्रत्येक को 1500 रुपये का अनुदान दिया जाएगा।  इसके अलावा, राज्य में 25 लाख घरेलू कामगारों के लिए विभिन्न कल्याणकारी सहायता के लिए एक विशाल कोष उपलब्ध कराया गया है।

रिक्शा चालकों और फेरीवालों  को वित्तीय सहायता

राज्य के लगभग 5 लाख पंजीकृत पैदल चलने वालों को प्रत्येक को 1500 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस राशि को सीधे स्वर्णदाता योजना के माध्यम से पेडलर के बैंक खाते में जमा किया जाएगा।  राज्य में लगभग 12 लाख लाइसेंस प्राप्त ऑटोरिक्शा चालकों को प्रत्येक को 1500 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी।

आदिवासियों की मदद 

आदिवासी विकास विभाग की ख्याति योजना से लाभान्वित होने वाले लगभग 12 लाख आदिवासी परिवारों को प्रति परिवार 2,000 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी। साथ ही जिला स्तरीय कोविद योजना के लिए लगभग 3,300 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।  इससे जिला कलेक्टर द्वारा संबंधित जिले के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं स्थापित करने के लिए धन का उपयोग किया जा सकता है।

यह भी पढ़े- एंटीलिया केस की जांच कर रही NIA महानिरीक्षक का हुआ तबादला

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें