Advertisement

कोरोना का असर, आम लोगों के लिए फिर बंद हो सकती है लोकल ट्रेंन?

कोरोना को रोकने के लिए महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार दो विकल्प तलाश रही है - या तो लोकल ट्रेनों में आम जनता के लिए आवंटित समय स्लॉट पर अंकुश लगाएं या उन्हें लोकल ट्रेनों की सेवा से पूरी तरह से प्रतिबंधित करें।

कोरोना का असर, आम लोगों के लिए फिर बंद हो सकती है लोकल ट्रेंन?
(File Image)
SHARES

मुंबईकरों के लिए एक बड़ी खबर है। मुंबई (Mumbai) में जिस गति से कोरोना वायरस (coronavirus) के केस बढ़ रहे हों, अगर यही हाल रहा तो राज्य सरकार, आम लोगों को लोकल ट्रेन में मिली यात्रा करने की छूट को समाप्त कर सकती है। हालांकि सरकार स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही कोई अंतिम निर्णय लेगी।

बता दें कि कोरोना महामारी (corona pandemic) के कारण आम लोगों को पूरे 10 महीने के बाद 1 फरवरी से मुंबई (mumbai) की लोकल ट्रेन (local train) में यात्रा करने की अनुमति सरकार द्वारा दी गई। लेकिन इसी बीच फिर से कोरोना (covid19) के केस में वृद्धि होने लगी। ऐसा माना जा रहा है कि, लोकल ट्रेन चालू होने के कारण ही COVID-19 के मामलों में वृद्धि हुई है। क्योंकि लोकल ट्रेंन में न तो सोशल डिस्टेंस (social distance) का पालन हो पा रहा है और कई लोग तो मास्क भी नहीं लगा रहे हैं।

बृहन्मुंबई महानगर पालिका (bmc) के कमिश्नर इकबाल सिंह चहल (iqbal singh chahal) ने मंगलवार 23 फरवरी को एक साक्षात्कार में लोगों की बढ़ती भीड़ और बरत रहे लापरवाही को कोरोना के बढ़ने का कारण बताया।

आईएस चहल ने कहा, “मैंने पहले उल्लेख किया था कि यदि ट्रेनों के शुरू होने में कोई वृद्धि हुई है तो हमें यह समझने में तीन सप्ताह लगेंगे। और ट्रेनों को शुरू हुए चार हफ्ते बीत चुके हैं, और कोरोना के मामलों में ट्रेनों में होने वाली भारी भीड़ को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।'

अब कोरोना को रोकने के लिए महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार दो विकल्प तलाश रही है - या तो लोकल ट्रेनों में आम जनता के लिए आवंटित समय स्लॉट पर अंकुश लगाएं या उन्हें लोकल ट्रेनों की सेवा से पूरी तरह से प्रतिबंधित करें। केवल अति आवश्यक सेवाओं को बनाए रखने और चिकित्सा देखभाल प्रदान करने वालों को ही अनुमति दे।

हालांकि, एक राज्य मंत्री ने कहा कि वे आम जनता को ट्रेन में चढ़ने से नहीं रोकेंगे, लेकिन आने वाले दिनों में उनके लिए समय में फेरबदल किया जा सकता है।

एक राज्य सरकार के अधिकारी के अनुसार, आम जनता के लिए ट्रेन को फिर से शुरू करने के बाद तीनों लाइनों में यात्रियों की संख्या चार गुना बढ़ गई है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार या तो आम जनता को दी गई अनुमति को पूरी तरह से रद्द कर सकती है या आवंटित समय स्लॉट को कम कर सकती है ताकि स्थानीय लोगों की भीड़ कम हो सके।

इससे पहले, बीएमसी प्रमुख ने नागरिकों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की चेतावनी दी है, क्योंकि अगर इसी तरह से केस बढ़ते रहे तो आम लोगों को फिर से लॉकडाउन का सामना करना पड़ सकता है।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें