इंटर्न डॉक्टरों की हड़ताल खत्म

अधिक स्टाइपेंड की मांग को लेकर पिछलें कई दिनों से काम बंदलन आंदोलन पर थे इंटर्न डॉक्टर्स

SHARE

पिछलें 6 दिनों से चली आरही है राज्यभर में इंटर्न डॉक्टरों की हड़ताल आखिरकार खत्म हो गई। मंजलवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. गिरीश महाजन के साथ हुई एक बैठक के बाद इंटर्न डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल वापस लेने का फैसला किया है। स्टेट मेडिकल इंटर्न एसोसिएशन के अध्यक्ष दर्शन कलाल ने 13 जून से ल रही इस हड़ताल को वापस लेने की घोषणा की।

क्या थी इंटर्न डॉक्टरो की मांग

इंटर्न डॉक्टरों की मांग थी की अन्य राज्यों की तरह उन्हे भी अधिक स्टाइपेंड दिया जाए। स्टेट मेडिकल इंटर्न एसोसिएशन का कहना है की चिकित्सा वेतन 11 हजार तक दिये जाने की घोषणा काफी पहले की गई थी, लेकिन काफी समय से इसपर सरकार की ओर से कोई भी प्रतिक्रीया ना मिलने के कारण इंटर्न डॉक्टर्स ने काम बंद का आंदोलन किया था।

यह भी पढ़े- छाती में दर्द के बाद लालू यादव मुंबई के अस्पताल में भर्ती!

2800 छात्रों ने लिया हिस्सा

इस काम बंद आंदोलन में 2 हजार 800 छात्रों ने हिस्सा लिया था। इसके बाद, मंगलवार को महाजन के साथ एक बैठक हुई। उन्होंने वादा किया कि नए स्टाईपेंड को दो महीने में लागू किया जाएगा। उसके बाद, छात्रों ने काम करना शुरू कर दिया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें