मुंबई के डॉक्टर ने स्वास्थ मंत्री से की फिल्म 'कबीर सिंह' की शिकायत

डॉ. प्रदीप घाडगे के अनुसार फिल्म में डॉक्टरों की छवि को खराब किया गया है

SHARE

मुंबई के एक डॉक्टर ने महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री एकनाथ शिंदे को हाल ही में रिलीज़ हुई फिल्म 'कबीर सिंह' में डॉक्टरों के कथित "नकारात्मक" चित्रण के बारे में शिकायत करते हुए लिखा है कि यह फिल्म चिकित्सा पेशे के बारे में एक "गलत संदेश" भेजती है। डॉ. प्रदीप घाडगे ने मंगलवार को एकनाथ शिंदे को यह पत्र लिखा है।  


घाडगे ने अपने पत्र में कहा है की   "फिल्म में पूरी तरह से बकवास दिखाया है। MBBS परीक्षा को क्रैक करना एक बहुत ही मुश्किल काम है। एक शराबी व्यक्ति बुरी आदतों के साथ विश्वविद्यालय की परीक्षा कैसे दे सकता है? डॉक्टर निश्चित रूप से इस फिल्म के खिलाफ खड़े होंगे। हमें डॉक्टरों की छवि बनाए रखने की आवश्यकता है। समाज में,"। घाटगे ने यह भी कहा कि सेंसर बोर्ड को ऐसी फिल्मों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।


इसके साथ ही प्रदीप घाडगे का कहना है की आज डॉक्टरों की खराब स्थिती को देखते हुए कोई भी इस  पेशे का चयन जल्दी नहीं करता है।   सेंसर बोर्ड को फिल्म के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। भविष्य में, सेंसर बोर्ड को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को शामिल करना चाहिए जब ऐसी फिल्में बनाई जाती हैं।


'कबीर सिंह' तेलुगु हिट 'अर्जुन रेड्डी' का हिंदी रीमेक है। इस फिल्म को लोगों का अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है।   भूषण कुमार, मुराद खेतानी, कृष्ण कुमार और अश्विन वर्दे द्वारा निर्मित यह फिल्म 21 जून को रिलीज़ हुई थी।

संबंधित विषय