अब मुंबई पुलिस का भी दिखेगा 'इतिहास'!

मुंबई पुलिस आयुक्त ने "मुंबई पुलिस फाउंडेशन" की स्थापना की है।

SHARE

मुंबई पुलिस बल का लंबा इतिहास है, लेकिन यह आधिकारिक और एकीकृत रिकॉर्ड कहीं संभालकर नहीं रखा गया है। लेकिन अब मुंबई पुलिस के सारे रिकॉर्डस को संभालकर एकत्रित किया जाएगा। मुंबई पुलिस आयुक्त दत्ता पडसलगीकर ने हाल ही में एक धर्मार्थ संगठन "मुंबई पुलिस फाउंडेशन" स्थापित किया है। इस फाउंडेशन के जरियेन मुंबई पुलिस के कर्मचारियों का विकास और मुंबई पुलिस वस्तू संग्रहालय का कम किया जाएगा।


यह भी पढ़े- मुंबई में और भी 'क्लस्टर विश्वविद्यालय' बनाने की योजना

आम लोगों को पता चलेगा मुंबई पुलिस का इतिहास

मुंबई पुलिस बल के निर्माण की कहानी भी दिलचस्प है। सात द्वीपों की रक्षा के लिए गार्ड को 1672 से सौंपा गया था। हालांकि, आधिकारिक और अनुशासित मुंबई पुलिस की पहचान 1864 से है। आजादी के बाद, पुलिस बल में बहुत सारे बदलाव आए। हाफ पैंट में काम करनेवाले पुलिस कर्मी आखिर फुल पैंट में कैसे आये? बहुत से लोगों को मुंबई पुलिस के इतिहास के बारे में बहुत कम ही जानातीर है , जिसे इस संग्राहलय के जरिये लोगों तक पहुंचाया जाएगा।


यह भी पढ़े - अथर्व के मौत के मामले में 12 दोस्तों को किया गया गिरफ्तार 

टाटा ट्रस्ट ने ली जिम्मेदारी

"टाटा ट्रस्ट" ने "मुंबई पुलिस वेयरहाउस" और "प्राचीन रिकॉर्ड्स विभाग" के निर्माण को वित्तिय सहायता देने की जिम्मेदारी उठाई है। 10 मई को मुंबई पुलिस आयुक्त और टाटा ट्रस्ट के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए ।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें