Advertisement

फिलीपींस अपने यहां लागू करेगा धारावी पैटर्न, BMC ने दिया खाका

फिलीपींस की न्यूज़ वेबसाइट 'इंक्वायरर' में छपी खबर अनुसार, फिलीपींस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने धारावी पैटर्न को कोरोना रोकने में बहुत प्रभावी माना है। और इस पैटर्न को घनी आबादी वाले क्षेत्रों में प्रभावी रूप से लागू भी किया जा सकता है।

फिलीपींस अपने यहां लागू करेगा धारावी पैटर्न, BMC ने दिया खाका
SHARES


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा मुंबई के धारावी पैटर्न (sharabi pattern) की प्रशंसा करने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध होने के बाद अब इस पैटर्न का उपयोग फिलीपींस ने भी करने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि फिलीपींस सरकार ने BMC से इस संबंध में संपर्क भी किया है। साथ ही मुंबई के BMC कमिश्नर इकबाल सिंह चहल (iqbal singh chahal) ने भी इस खबर की पुष्टि की है।

उन्होने कहा, फिलीपीन सरकार धारावी पैटर्न को लागू करना चाहती है। हमने उन्हें धारावी पैटर्न का खाका दिया है।

फिलीपींस की न्यूज़ वेबसाइट 'इंक्वायरर' में छपी खबर अनुसार, फिलीपींस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने धारावी पैटर्न को कोरोना रोकने में बहुत प्रभावी माना है। और इस पैटर्न को घनी आबादी वाले क्षेत्रों में प्रभावी रूप से लागू भी किया जा सकता है।

धारावी को एशिया में सबसे बड़ी झुग्गी झोपड़ी वाले इलाके के रूप में जाना जाता है। जैसे ही धारावी में कोरोना वायरस की एंट्री हुई, धारावी कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया। उसके बाद मुंबई नगर निगम यानी BMC ने अपना पूरा ध्यान धारावी पर केंद्रित कर दिया। BMC द्वारा शुरू किए गए 'चेस द वायरस' अभियान के तहत ट्रेसिंग, ट्रैकिंग, टेस्टिंग और ट्रिटिंग जैसी की चार स्तरों की अवधारणा को तेजी से लागू किया गया। प्रोएक्टिव स्क्रीनिंग, फीवर क्लिनिक, अर्ली डिटेक्शन, उचित समय पर क्वारंटाइन, अच्छी तरह से सुसज्जित स्वास्थ्य सुविधाएं और क्वारंटाइन केंद्रों ने वायरस के प्रकोप को नियंत्रित करने में काफी मदद की।

इसके अलावा 14,000 लोगों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन कर उन्हें अलग किया गया। हाई रिस्क जोन चिन्हित करके प्राइवेट डॉक्टरों की भी मदद ली गई। यहां तक कि कंटेन्मेंट ज़ोन के लोगों को बीएमसी से खाद्यान्न भी उपलब्ध कराया गया ताकि वे बाहर न जाएं।

इन सभी के कड़ी मेहनत के बाद, धारावी में आखिर कोरोना रोगियों की संख्या कम होने लगी। वर्तमान में, धारावी में 5388 कोरोना संक्रमितों का इलाज चल रहा है। इस इलाके में मरीजों की डबलिंग रेेेट 86 दिन हो गई है।  जबकि कोरोना रोगियों की वृद्धि दर 81% है। कोरोना के कारण होने वाली मौतों की संख्या घटकर 4.8 हो गई है।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय