चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी सड़कों पर

 Chembur
चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी सड़कों पर
चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी सड़कों पर
See all

चेंबूर के खारदेव नगर में रहने वाले करीब 350 चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी पालिका के विरोध में सड़क पर उतरेंगे। इन कर्मचारियों ने आरोप लगाया है कि बीएमसी ने उन्हें घर खाली करने का नोटिस दिया है।

चेंबूर के खारदेव नगर में वर्ष 1976 में स्लम इम्प्रूवमेंट बोर्ड ने बेघर निवासियों के लिए एक कैंप का निर्माण करवाया था। लेकिन इस कैंप में रहने के लिए कोई नहीं आया। इसके परिणामस्वरूप इस पर बीएमसी की प्रॉपर्टी सेल ने अपने कब्जे में ले लिया। इन घरों को बीएमसी ने चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों जैसे सिक्युरिटी गार्ड, सफाई कर्मी, सड़क रिपेयर कमर्चारियों सहित अन्य लोगों को दे दिया। घर तो इन्हें दे दिए गए लेकिन व्यवस्था के नाम पर कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी। लेकिन तीन महिना पहले अचानक बीएमसी नोटिस भेजकर इन घरों को खाली करने का फरमान सुनाती है। बीएमसी के इस नोटिस के विरोध में यहाँ के निवासियों ने कोर्ट में याचिका भी दायर की है। लेकिन कोर्ट ने अपने आदेश में भी घरों को 4-5 दिन में खाली करने का आदेश सुनाया।

यहां के स्थानीय निवासी महादेव जाधव का कहना है कि हम छोटे छोटे बच्चे को लेकर कहां जाए? अब तो बारिश भी आने वाली है। इस मामले में मुख्यमंत्री ही अब हमारी मदद कर सकते हैं।

Loading Comments