चेंबूर आग हादसा: बिल्डर के खिलाफ केस हुआ दर्ज


SHARE

गुरूवार रात चेंबूर के तिलक नगर में सरगम सोसायटी नामकी बिल्डिंग में आग लगने से 3 महिला सहित 5 लोगों की मौत हो गयी और 2 गंभीर रूप से घायल हैं। अब इस मामले में तिलक नगर पुलिस ने बिल्डर के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज किया है। पुलिस ने यह केस बिल्डिंग का ओसी नहीं होने और अग्निसुरक्षा संबंधित कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण दर्ज किया है।

सिलेंडर ब्लास्ट के कारण लगी आग?
तिकल नगर के सरगम सोसायटी बिल्डिंग की 14वीं मंजिल पर गुरूवार शाम 8 बजे के लगभग आग लगी थी। स्थानीय लोगों की मानें तो यह आग सिलेंडर में ब्लास्ट के कारण लगी थी। आग इतनी भीषण थी कि देखते ही देखते यह आग आस-पास के घरों में भी फ़ैल गयी। दमकल कर्मियों ने काफी मशक्कत के बाद आग को काबू में किया, बावजूद इसके इस आग ने 5 लोगों की जान ले ली।


यह भी पढ़ें: चेंबूर में इमारत में लगी आग , 5 लोगों की मौत


बिल्डर की लापर वाही आई सामने
अब तिलक नगर पुलिस ने इस बिल्डिंग को बनाने वाले बिल्डर हेमंत माफरा के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह बात भी सामने आई है कि बीएमसी ने इस बिल्डिंग को ओसी यानी ओक्युपेशन सर्टिफिकेट भी नहीं दिया था बावजूद इसके बिल्डर ने लोगों को यह घर बेचा था, यही नहीं बिल्डिंग में आग लगने पर उसे बुझाने से संबंधित कोई व्यवस्था भी नहीं की गयी थी।  

दमकल विभाग की भी लापरवाही 
स्थानीय लोगों ने यह भी बताया कि उन्होंने कई बार दमकल विभाग को पत्र लिख कर बिल्डिंग में आग लगने पर उसे बुझाने की कोई व्यवस्था नहीं होने की तरफ ध्यान भी दिलाया, लेकिन हर बार दमकल विभाग ने लापरवाही दिखाते हुए इस तरफ को ध्यान नहीं दिया। आखिरकार बिल्डर और संबंधित अधिकारियों की लापरवाही की कीमत 5 बुजुर्गों को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।


पढ़ें: अंधेरी में ईएसआईसी अस्पताल में आग की जांच के लिए राज्य सरकार ने बनाई समिति


बिल्डिंग में रहने वाले भी जिम्मेदार
इस लापरवाही के जिम्मेदार बिल्डिंग में रहने वाले लोग भी हैं, जिन्होंने ओसी नहीं होने पर भी यहां घर खरीदा और यहां रहने लगे। आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर से लाकर इस साल दिसंबर तक आग लगने की अब तक सैकड़ों घटनाएं घट चुकी हैं। हर बार संबंधित विभाग की लापरवाही सामने आती है और इस बार भी जाते-जाते यह 'खुनी' दिसंबर महीना लोगों की जान ले कर ही जा रहा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें