वकील ने की उपजिलाधिकारी के निलंबन की मांग

 Collector Office
वकील ने की उपजिलाधिकारी के निलंबन की मांग

मुंबई - एसआरए मामले को लेकर वकील आनंद सांगवीकर को उनके जाति को लेकर आक्षेप किया गया, साथ ही आनंद के साथ मारपीट भी की गयी। इस मामले में आनंद ने तत्काल प्रभाव से उपजिलाधिकारी स्वाति कारले को निलंबन करने की मांग की है।

27 फरवरी को सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता वकिल सांगवीकर को कारले ने एक कागज पर साइन करने को कहा। लेकिन उस कागज पर सांगवीकर का नाम नहीं अंकित था, सांगवीकर ने कारले से उस कागज पर नाम लिखने की विनती की इतने में कारले का पारा एकदम से चढ़ गया। सांगवीकर ने आरोप लगाया कि कारले ने उन्हें जातीसूचक गाली दी और उनके साथ मारपीट की।

इस मामले में सांगवीकर ने जब निर्मल नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने गये तो पुलिस ने शिकायत दर्ज करने में भी आना कानी की। परेशान सांगवीकर ने कोर्ट की शरण ली। इसके बाद पुलिस ने कारले के खिलाफ केस दर्ज किया।जब इस मामले में कारले से पूछा गया तो उन्होंने सिरे से नकारते हुए सभी आरोपों को गलत बताया। कारले ने स्पष्ट किया कि अपात्र झोपड़ी को पात्र करने के लिए दबाव डाल रहे थे। कराले ने कहा कि उन्हें बदनाम करने की साजिश की जारही है, वे अपने सीनियर्स से इस मुद्दे पर बात करेंगी।

Loading Comments