मुंबई में फैलता जा रहा है स्वाइन फ्लू और लेप्टोस्पायरोसिस का जाल

 Mumbai
मुंबई में फैलता जा रहा है स्वाइन फ्लू और लेप्टोस्पायरोसिस का जाल

शहर में स्वाईन फ्लू का जाल बढ़ता ही जा रहा है। जुलाई के महीने में ही स्वाइन फ्लू से मुंबई में 15 दिनों में पांच लोगों की मौत हो गई।
पिछले साल, जुलाई के महीने में, केवल एक रोगी को स्वाइन फ्लू की शिकायत थी, लेकिन इस साल लगभग 250 ऐसे सिर्फ जुलाई में ही सामने आए है। जनवरी से जुलाई के बीच स्वाइन फ्लू के 672 मामले दर्ज किए गए जिनमें से 22 लोग फ्लू से शिकार हो गए हैं।

बीएमसी से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक,
जुलाई 2016 - जुलाई 2017
डेंगू -63 (0) 28
लेप्टोस्पिरोसिस -76 (3) 23 (2)
मलेरिया -586 (1) 30 9
गैस्ट्रोएंटेरिटिस -1672 544
हेपेटाइटिस -135 88
स्वाइन फ्लू -1 250 (5)
हैजा -7 1

मुंबई में अब तक 2230 परिवारों का सर्वेक्षण किया गया है
स्वाइन फ्लू के रोगियों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए अब तक मुंबई में 2230 घरों का सर्वेक्षण किया गया है। इस सर्वेक्षण के दौरान 18 लोगो में इस रोग के प्राथमिक लक्षण पाए गए और उनका उपचार टैमिफ्लू के साथ किया गया।

• जनवरी से जुलाई 2017 - 55,531 रोगियों की जांच की गई
• संदिग्ध मामलों के लिए 2844 रोगियों को टैमिफ्लू औषधि दी गई
• 874 लोग स्वाइन फ्लू के शिकार
• मुंबई में 672, मुंबई के बाहर 202 मरीज़

लेप्टोस्पायरोसिस से 2 लोगों मारे गए

लेप्टोस्पायरोसिस के 23 मामले जुलाई के महीने में दर्ज किए गए । झोपड़ी क्षेत्र में 850 घरों का सर्वेक्षण किया गया है और 4850 परिवारों में लेप्टोस्पायरोसिस के लक्षण मिले है।

डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 


Loading Comments