सीएसटी में दो महिला रेलवे कर्मचारी आपस में भिड़ी

सोमवार शाम को सीएसटी पर उस समय अफरा तफरी मच गयी जब सरेआम दो महिला आपस में ही मारपीट करने लगी। उस पर यह कि यह दोनों महिला कोई आम महिला न होकर रेलवे के उच्च पदों पर काम करने वाली अधिकारी हैं।

सूत्रों की माने तो काले कपड़े में दिख रही महिला का नाम एड. डीलाइल फर्नांडीज है जो रेलवे के शिकायत निवारण समिति की वकील है। तो वहीं दुसरी महिला का नाम स्वाती सिन्हा है जो सेंट्रल रेलवे में वरिष्ठ पद पर तैनात हैं।मौके पर मौजूद एक महिला कॉस्टेबल के हस्तक्षेप के बाद इन दिनों महिलाओं के झड़गे को सुलझाया गया। लेकिन तब तक इन दोनों महिलाओ की मारपीट की घटना को किसी ने मोबाइल में कैद कर लिया था।

एडवोकेट फर्नांडीज ने एमआरए पुलिस स्टेशन में स्वाति सिन्हा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इस मामले को लेकर रेलवे क्लेम ट्रिब्यूनल बार एसोसिएशन के वकीलों ने स्वाति सिन्हा को तत्काल निलंबन करने की मांग की है, ऐसा न करने पर जीएम ऑफिस के बाहर भूख हड़ताल पर बैठने की धमकी भी दी है। हालांकि इस मारपीट का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं ही पाया है।

मिली जानकारी के अनुसार 2015 में स्वाति सिन्हा ने बतौर अतिरिक्त भार  (additional charge) रहते हुए एडवोकेट डिलाईल फर्नांडिस को एडवोकेट पैनल से हटाने की मांग की थी। लेकिन किसी कारण से स्वाति सिन्हा को उनके पद से हटा दिया गया। आशंका जताई जा रही है कि इस बात को दो साल बीत जाने के बाद भी स्वाति के मन में कहीं न कहीं इस बात को लेकर गुस्सा अभी भी  बना था कि उक्त घटना के पीछे डीलाइल का ही हात था।

स्वाति सिन्हा एक बार उस समय भी चर्चा में आई थी जब मनसे ने मराठी को लेकर एक आरटीआई का जावाब मांगा था, जवाब देने से स्वाति ने मना कर दिया था।

Loading Comments